उजाला हुआ चुदाई के बाद

indian porn stories, desi kahani

हैलो भाइयों, मेरा नाम नितिन कोष्ठा है और मैं नागपुर का रहने वाला हूँ | दोस्तों मैं ये एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ, जो मेरे साथ हुई थी जब मैं कुछ महीने पहले इंदौर गया था | मैं वहां इंटरव्यू देने गया था लेकिन कुछ और ही लेके आ गया | मैंने इंजीनियरिंग की है और आपको तो पता है इंजीनियरों की क्या हालत है | मैं भी उसी प्रजाति का हूँ जिसे नौकरी नहीं मिली और यहाँ वहाँ भटकना पड़ रहा है | तो कुछ महीने पहले मेरा एक कंपनी में इंटरव्यू था और मैं वहाँ इंटरव्यू देने गया | मैं अन्दर गया और जब मैंने अन्दर जाके कंपनी का इंटीरियर देखा, मेरा तो दिल गार्डन गार्डन हो गया | वैसे कंपनी काफी बड़ी थी और वहां काम करने लोग भी काफी पढ़े लिखे लग रहे थे |

वैसे मैंने इस कंपनी में अप्लाई किया नहीं था इसके मैनेजर का मुझे कॉल आया था कि हमारी मैडम ने आपका रिज्यूमे सेलेक्ट किया है और आपका एक हफ्ते बाद इंटरव्यू है | मुझे भी उस वक़्त अजीब लगा था लेकिन बेरोजगार बैठने से अच्छा है जो नौकरी दे रहा है उसी के पास कर लो | वैसे उनकी मैडम ने मुझे फेसबुक पर पर्सनली मैसेज करके कहा था कि आपका रिज्यूमे हमारी नीड्स को फुलफिल करता है इसलिए हम आपको एक चांस देना चाहते है | मुझे भी ठीक लगा तो मैं पहुँच गया लेकिन असली मामला तो मुझे बाद में पता चला, जो मैं आपको आगे बताऊंगा | तो मैं वेटिंग रूम में थोड़ी देर तक इंतज़ार करता रहा और जो मैडम थी उनकी फेसबुक प्रोफाइल चैक करता रहा | मैडम मस्त आइटम थी और उनकी उम्र लगभग 35 साल होगी लेकिन दिखने में एकदम मस्त माल थी | उनका डाइवोर्स हो चुका था लेकिन घूमना फिरना, पार्टी और ऐश पूरे करती थी | उसकी प्रोफाइल में उसकी कंपनी के बारे में एक दो चीज़ें ही थी जो मैंने पढ़ी ताकि इम्प्रैशन मार सकूँ | थोड़ी देर बाद एक लड़का आया और उसने कहा चलिए सर मैडम आपको बुला रही है इंटरव्यू के लिए |

मैं सेकंड फ्लोर पर गया और उसने कांफ्रेंस हॉल के सामने ले जाके कहा सर अन्दर चले जाईये और मैं अन्दर चला गया | मैं अन्दर गया तो हॉल बहुत बड़ा था और टेबल एक तरफ दो लोग बैठे थे | एक टेक्निकल वाला था और एक एच.आर. था | दोनों ने मेरा जमके इंटरव्यू लिया और मैंने भी अच्छी तैयारी की थी इसलिए मैंने भी उनके लगभग सभी सवालों का जवाब दिया | मैं बैठा बैठा बस सोच ही रहा था कि मैडम नहीं आई तभी वो लड़का अन्दर आया और उनसे कुछ बात की और मुझे कहा चलिए सर मैडम आपको बुला रही है | फिर मैं एक फ्लोर और ऊपर गया और वो मुझे मैडम के केबिन तक ले गया और कहा सर एक मिनिट और अन्दर जाके मैडम से बात की और बाहर आके मुझसे कहा सर अन्दर चले जाईये | मैंने अन्दर देखा और मैडम से पूछा मे आई कम इन ? और ने कहा मैडम यस कम इन | मैं अन्दर गया और जाके खड़ा हो गया तो मैडम ने कहा प्लीज़ सिट और मैं बैठ गया | मैंने अपना रिज्यूमे दिया और मैडम उसे देखने लगी और मैं पूरे केबिन में नज़र दौड़ाने लगा | केबिन बहुत मस्त था और डिजाईन के तो क्या कहने, मतलब दिल छू जाने वाली चीज़ | फिर मैंने मैडम की तरफ देखा तो मैडम मुझे ही देख रही थी, मैडम ने कहा अच्छा देख लिया केबिन कैसा लगा ? मैंने कहा बहुत अच्छा है मैम | तो फिर मैडम ने वही घिसे पिटे सवाल किये तुम अपने आपको 5 साल बाद कहाँ देखते हो ? अपनी जॉब से क्या एक्स्पेक्ट करते हो ? और भी बहुत कुछ मैंने भी गज़ब गज़ब जवाब दिए, जो मैं रट के गया था |

मैडम ने कहा नाईस और उसके बाद उठके मेरे पास आई और कहा तुम मुझे बहुत अच्छे लगे, मैं तुम्हें अच्छी सैलरी दूंगी बस तुम्हें वही करना होगा जो मैं कहूँ | मैंने कहा ठीक है मैम कब से शुरू करना है ? तो उसने कहा आज से अभी से | तो मैंने कहा मैं कुछ समझा नहीं मैम ? तो उसने कहा बताती हूँ और फिर वो जाके अपनी कुर्सी पे वापस बैठ गई और मुझे एक बांड दिया और कहा ये साइन कर दो | मैंने सोचा अच्छी सैलरी दे रही है और जगह भी अच्छी है इसलिए मैंने साइन कर दिया | उसके बाद उसने कहा अच्छा खड़े हो और मेरे पास आओ | मैं उठके उसके पास गया और उसने अपने लैपटॉप पर प्रोजेक्ट के बारे में बताना शुरू कर दिया | उसने कहा ये काम है जो तुम्हें करना है, तो मैंने ठीक है मैम, तो उसने बोला ये तो तुम्हें कल से करना है | तो मैंने पूछा तो मैम आज क्या करूँगा ? तो मैडम ने कहा मुझे खुश | मैंने कहा मैडम मैं फिर से कुछ नहीं समझा, तो मैडम ने कहा मैं समझाती हूँ, जाओ डोर लॉक कर दो | मैं गया और दरवाज़ा बंद कर दिया और मैं समझ गया था कि ये शायद चुदने की फ़िराक में है लेकिन मैं मज़े ले रहा था | फिर मैडम ने कहा चलो अपने कपड़े उतारो, मुझे अन्दर से बहुत ख़ुशी हो रही थी कि आज मैं चूत मारूंगा | मैं कुछ देर तक खड़ा हो के सोचता रहा कि ऐसा करूँ या नहीं ? तो मैडम ने कहा जल्दी करो समय बर्बाद नहीं करते | तो मैंने धीरे धीरे कपड़े उतारना शुरू किया और चड्डी छोड़ के सब उतार दिया | जब उसने कहा ये भी उतारो और मैंने नहीं उतारी, तो वो उठ के मेरे पास आई और नीचे अपने घुटनों पर बैठके मेरी चड्डी उतार दी और मेरा लंड सहलाने लगी |

मुझे मज़ा तो आ रहा था लेकिन मेरी गांड भी फट रही थी कि कहीं कुछ गलत न हो जाए लेकिन मैंने सोचा जो होगा देखा जाएगा और जो वो कर रही थी उसका मज़ा लेता गया | फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और उसने मेरा लंड अपने मुँह में डालकर चूसना शुरू कर दिया | वो मेरा लंड चूस रही थी और नीचे से मेरी गोटियाँ भी सहला रही थी | फिर उसने मेरा लंड पकड़ा और हिलाने लगी और थोड़ी देर हिलाने के बाद उसने फिर से चूसना शुरू कर दिया | फिर थोड़ी देर में ही मेरा माल झड़ गया उसके मुँह में ही और उसने कहा काफी टेस्टी है | मुझे लगा शायद आज का कार्यक्रम यहीं समाप्त हुआ लेकिन मैडम को अभी चुदना भी था, तो मुझे कपड़े उठाते देख मैडम ने कहा अरे अभी ख़त्म नहीं हुआ है अभी तो बहुत कुछ बाकी है और मेरा हाँथ पकड़ के मुझे टेबल के पास लेकर गई और अपने कपडे उतारने के लिए कहा | अब मैं ठहरा अच्छा मुलाज़िम, हुकुम तो मानना ही पड़ेगा तो मैंने मैडम के कपड़े उतारे और उनके दूध दबा दबा के चूसने लगा | मैं उनके निप्पल इस कदर चूस रहा था क्यूंकि मुझे लग रहा था कि इसमें से दूध निकलेगा और निकला भी, मैंने थोडा दूध पिया और मैडम खुद ही अपनी चूत घिसती रही | फिर मैंने मोर्चा सँभालते हुए उनकी चूत घिसना शुरू किया और दूध भी चूसता रहा | मैडम कहने लगी ऐसे ही करते रहो बहुत अच्छा लग रहा है और मैं करता रहा |

फिर मैं रुका और मैडम की चूत में दो ऊँगली डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा | मैडम आह्ह्ह्ह अह्ह् ह्ह ह्ह्ह्ह करती रही और मैं ऊँगली करता रहा | फिर मैडम ने मेरा हाँथ पकड़ा और कहा अब डाल दो, तो मैंने मैडम की चूत पर लंड रखा और घिसने लगा | मैंने थोड़ी देर उनकी चूत पर लंड घिसता रहा और मारता रहा, तो उन्होंने कहा बस अब डाल दो और मैंने उनकी चूत में लंड अन्दर तक घुसा दिया | मैडम ने ऐसे रिएक्शन दिया जैसे बरसों की आग ठंडी हो गई, फिर मैं आगे पीछे करके होक उनको चोदने लगा और वो अह आआ ह्हह्हा आया आआ अआआअ करने लगी | मुझे भी उनको चोदने में बहुत मज़ा आ रहा था क्यूंकि मैंने पहली बार अपने से बड़ी औरत को चोदा था इसलिए फीलिंग ही कुछ अलग थी | फिर मैडम ने कहा रुको और मैं रुक गया और अपना लंड बाहर निकाल लिया, मैडम उतरी और घूमकर झुकके खड़ी हो गई | मैंने भी पीछे से उनकी चूत में लंड डाला और चोदना शुरू कर दिया | फिर मैं लगा चोदई चोदे और मैडम कर थी अह् आ | फिर मेरा माल झड़ने को हुआ तो मैंने लंड बाहर निकाला और गांड की नाली के ऊपर गिरा दिया, जिससे की वो उसमें बहने लगा जैसे मैं मांग भर दी हो, वो भी गांड की अपने मुट्ठ से | उसके बाद मैडम रोज़ मुझे केबिन बुलाया करती थी और जिस दिन मौका नहीं मिला तो हम उसके घर चले जाया करते थे |