शादी न सही चुदाई तो कर सकते हैं

indian porn kahani, hindi chudai ki kahani

हाय गाइस ! कैसे हैं आप लोग ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग अच्छे होंगे और चुदाई के मजे तो जरुर ले रहे होंगे | मेरा नाम प्रतिमा है और मैं मंडला निवासी हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैं अभी मैंने पोस्ट ग्रेजुएशन कम्प्लीट किया है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच है और मेरा बदन भी सेक्सी और सुडोल है | मैं इस साईट की रोजाना पाठक हूँ और रोज रात में मैं इस साईट को ओपन कर के चुदाई की कहानियां पढ़ते हुए चुदाई के मजे लेती हूँ | मैं चुदाई की कहानियां पढ़ते हुए इतना व्यस्त ही जाती हूँ कि मैं सो जाती हूँ और ये साईट ओपन ही रह जाती है | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की कुछ सच्ची घटनाओ में से एक है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी जरुँर पसंद आएगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लूंगी और अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये घटना दो महीने पहले की है | मेरे घर में मम्मी-पापा और दो बड़ी बहन हैं | मेरी मम्मी स्कूल में टीचर हैं और पापा प्राइवेट जॉब करते हैं | बड़ी बहन भी जॉब करती हैं और उससे बड़ी वाली बहन की शादी हो चुकी है | अब बची बस मैं हूँ घर में मस्ती करने के लिए क्यूंकि मैं अपने घर में छोटी बेटी हूँ और मुझे सब ही बड़े लाड़ प्यार से रखते हैं | घर में सबसे छोटे होने का यही फायेदा रहता है कि आप को सभी बहुत पसंद करते हैं | मैं दिखती भी सुन्दर और क्यूट हूँ | जब मैं स्कूल में थी तो मेरी मम्मी मुझे रोज छोड़ने जाती और लेने आती थी | ऐसा उन्होंने कभी मेरी बड़ी बहनों के साथ नहीं किया | खैर इन सब छोटी छोटी बातो से हम बहनों में कभी कोई दरार नहीं आई और हम बहुत ही अच्छे से रहते | हाँ कभी कभी थोड़ी बहुत नोकझोक हो जाती लेकिन ये सब तो चलता ही रहता है | जब मैं कॉलेज में गई तब तो मैं बड़ी हो गई और जो स्कूटी मेरी बहन के पास थी कभी कभी उससे चली जाती या कभी बस से | मन तो ऐसा करता था कि काश मम्मीं अभी भी मुझे छोड़ने आती और लेने आती | पर मन में ये भी आता कि अच्छा ही है जो लेने नहीं आती नहीं तो क्या पता सब मेरा मजाक बनाते कि ये तो अभी भी बच्ची ही है इसको तो इसके घर वाले छोड़ने आते हैं |

मेरा एक बॉयफ्रेंड है जिसका नाम अनीश है और वो दिखने में बहुत ही हेंडसम है और उसकी कदकाठी एक दम हीरो जैसे है | जब उसने मुझे पहली दफा देखते ही साथ प्रोपोस किया तो मैंने भी उसे निराश नहीं कियोर उसके प्यार को अपना लिया | हम दोनों की रोज ही बाते होती फोन पर या जब कालिंग में बात नहीं कर पाते तो टेक्स्ट में बात करते | हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और हमेशा करते रहेंगे भले ही हमारी शादी नही भी होती है तो | एक बार हम दोनों फ़ोन पर बात कर रहे थे और उसने एक दम से सेक्स की बात छेड़ दी | मैं भी उसके साथ सेक्स करना चाहती थी तो मैंने भी उसे हाँ कर दिया और जब मेरे घर वाले किसी पार्टी में गए तो मैंने अनीश को फ़ोन किया और कहा कि अभी मेरे घर आ जाओ मेरा घर करीब 3 4 घंटे के लिए खाली है | तो उसने कहा अरे मेरी जान तेरे लिए तो मैं सात समुन्दर भी लांघ कर आ जाऊंगा तो ये सुन कर मैं मुस्कुरा उठी और उससे कह जल्दी आओ और फ़ोन काट दिया | वो 20 मिनट में मेरे घर आ गया और जैसे ही मैंने उसे अन्दर किया घर के और दरवाजा बंद करने लगी | उसने तुरंत ही मुझे अपनी बांहों में पीछे से जकड़ लिया और मेरे गले गर्दन को चूमने और चाटने लगा | मुझे बहुत अच्छा लग रहा था उसका ऐसा करना | फिर उसने मुझे अपनी तरफ घुमा दिया और मेरे होंट में अपने होंठ को रख कर मेरे होंठ का स्वाद लेने लगा | मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी और उसके होंठ के रस को अपने होंठ में उतार रही थी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरी गांड को भी मसल रहा था और मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके बदन को सेहला रही थी | फिर मैंने उसके शर्ट के बटन को खोल कर उतार दिया और उसकी बनियान भी उतार दी और उसके सीने में हाँथ फेरने लगी | उसके सीने में हाँथ पर फेरते हुए मैं अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई और उसके जीन्स को उतार दी |

अब वो मेरे सामने बस अंडरवियर में था और मैं उसके लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही सहलाने लगी और फिर उसे भी उसके बदन से अलग कर के उसे पूरा नंगा कर दिया | अब मैं उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर सहलाने लगी और फिर अपनी जीभ से उसके लंड को चाटने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैं उसके लंड को बहुत अच्छे से प्यार से चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बदन को सहलाने लगा | फिर मैंने उसके लंड के सुपाड़े को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | फिर मैं उसके लंड को पूरा अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था लंड चुसाई के |

फिर मैंने उसके अन्टोलो को अपने मुंह में लिया और उसको भी कुछ देर तक चूसा | फिर उसने मुझे उठाया और मेरे कुरते को उतार दिया और मेरे मम्मों को मसलने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर उसने मेरा ब्रा को एक ही झटके में मेरे तन से अलग कर मुझे भी ऊपर से नंगी कर दिया | फिर वो मेरे मम्मों को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके चेहरे को सहलाने लगी | वो जोर जोर से मेरे मम्मों को मसल रहा था और मेरे निप्पलस को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर उसने मेरे सलवार को भी उतार दिया और मेरी पेंटी को भी कींच कर उतार दिया | अब मैं भी पूरी नंगी हो चुकी थी और उसके बाद उसने मुझे लेटा कर मेरी दोनों टांगो को चौड़ा कर दिया | वो मेरी चूत पर अपनी जीभ फेरते हुए चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोश होने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे मम्मों को भी मसलने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत में सेट किया और अन्दर डाल कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कसमसा रही थी | कुछ मिनट के बाद उसने अपनी चुदाई तेज कर दिया और जोर जोर से मेरी चूत में धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर हिला हिला कर चुदाई में साथ देने लगी | फिर उसने मुझे कुतिया बना दिया और मेरे पीछे आ कर मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा कमर पकड़ के और मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कुतिया बन कर चुदाई के मजे ले रही थी | कुछ समय तक चोदने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी गांड के ऊपर ही झड़ा दिया |

तो गाइस ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी अच्छी लगी होगी |