लंड के ऊपर बैठ जांऊ सर?

Antarvasna, kamukta: जीवन में सब कुछ तो अच्छे से चल रहा था मैं एक सफल व्यापारी हूं और मेरा बिजनेस भी अच्छे से चल रहा था लेकिन अचानक से सब कुछ जैसे पूरी तरीके से बदल गया। मुझे पता ही नहीं चला कि कब समय इतनी तेजी से बदला कि मैं अपनी डूबती हुई कंपनी …

मौसम बेईमान हुआ और मन डोल ऊठा

Antarvasna, hindi sex kahani: मैं अपने घर पर ही था मेरी छोटी बहन कॉलेज से आई जब नमिता कॉलेज से आई तो मैंने नमिता को कहा आज तुम बड़ी जल्दी कॉलेज से आ गई तो नमिता कहने लगी कि हां भैया मेरी तबीयत ठीक नहीं थी इसलिए मैं घर जल्दी चली आई। नमिता मेरे पास …

बहन के चोदू आशिक से चुदी

Antarvasna, hindi sex kahani: सुबह के 9:00 बजे मैं अपने ऑफिस के लिए निकली मैंने अपने मुंह पर कपड़ा लपेटा हुआ था क्योंकि गर्मी का मौसम था और सुबह 9:00 बजे भी गर्मी बहुत ज्यादा हो रही थी। मैं अपने ऑफिस पहुंच गई तो उस दिन बहुत ज्यादा गर्मी हो रही थी और ऑफिस में …

झाड़ियों मे पेल कर रेल कर दिया

Antarvasna, desi kahani: मां हमेशा की तरह ही मुझे डांट रही थी और मैंने मां से कहा मां मैं जा रहा हूं मां मेरी शरारतो से हमेशा से ही परेशान थी और आए दिन घर पर कोई ना कोई मेरी शिकायत लेकर आ ही जाता था जिस वजह से मां का पारा हमेशा चढ़ा रहता …

दोस्त तुमसे नही होगा भाभी का शिकार

Antarvasna, bhabhi sex stories: मैं घर पर ही था मेरा यह कॉलेज का आखरी वर्ष है मैं कॉलेज से एम ए इंग्लिश की पढ़ाई कर रहा हूं। मैं घर पर बोर हो रहा था तो सोचा अपने दोस्त निखिल को फोन कर दूं जब मैंने निखिल को फोन किया तो निखिल मुझे कहने लगा कि …

बहन की सहेली मेरे साथ बंद कमरे मे

Antarvasna, hindi sex stories: मेरी बहन रीना मुझे कहती है कि भैया आप क्या ऑफिस जा रहे हैं मैंने रीना से कहा हां रीना मैं ऑफिस के लिए तैयार हो चुका हूं रीना मुझे कहने लगी कि भैया मुझे भी आप मेरे कॉलेज छोड़ देंगे क्या। मैंने रीना से कहा लेकिन तुम्हारी स्कूटी कहां है …

मायके में प्रेमी संग रास लीला

Antarvasna, hindi sex story: मैं अपने घर की बालकनी में खड़ी थी तभी मेरे फोन पर बड़ी तेज घंटी बजने लगी मैं रूम में गई तो मैंने देखा मेरे पति का फोन था मैंने उनका फोन उठाया और कहा क्या कुछ जरूरी काम था आपने अभी दोपहर में फोन किया। वह मुझे कहने लगे कि …

मजा तो गांड मारने में है

Antarvasna, hindi sex kahani: मैं रेलवे स्टेशन पर पहुंच चुकी थी और मैं अपनी सीट पर बैठी तो मुझे मोहित का फोन आया जब मुझे मोहित का फोन आया तो वह मुझसे कहने लगे की आशा क्या तुम ट्रेन में बैठ चुकी हो। मैंने मोहित को कहा हां मैं ट्रेन में ही बैठी हुई हूं …

चूत मरवाकर हुआ प्यार का अहसास

Antarvasna, hindi sex kahani: सर्दियों में गुनगुनी धूप में मैं कुर्सी लगाकर घर के बरामदे में बैठकर अखबार के पन्ने पलट रही थी मैं पढ़ने में इतना ज्यादा खो गई थी कि मुझे मां की आवाज सुनाई ही नहीं दी। मां मुझे कब से आवाज लगाये जा रही थी मैंने मां को कहा मां आप …

बर्थडे का विशेष उपहार

Antarvasna, hindi sex kahani: कॉलेज का पहला दिन और मैं सबसे आगे वाली बेंच पर बैठा हुआ था मैं कक्षा में टीचर का इंतजार कर रहा था लेकिन प्रोफ़ेसर साहब अभी तक आए नहीं थे। क्लास में कुछ चुनिंदा बच्चे ही बैठे हुए थे क्योंकि पहला दिन था इसलिए सब लोगों से परिचय तो नहीं …