मेरी दोस्त और मेरा दोस्त

hindi sex stories, desi porn kahani

नमस्कार दोस्तों, हैप्पी सन्डे | मेरा नाम आकृति है और मैं प्रेम नगर में रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं अब पूरी तरह से जवान हूँ चुकी हूँ | मेरे मम्मों का साइज़ 30 है और मेरे चूतड़ हैं 36 के हैं और इसी के साथ ही मेरी कमर 32 की है | मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरा रंग गोरा है | आप लोग खुद ही अंदाजा लगा सकते हो कि मैं दिखने में कैसी हूँ | अब दोस्तों मेरा शरीर ऐसा है तो मुझे मुरझाये लंड तो पसंद नहीं आयेंगे इसीलिए मुझे हमेशा एक बड़े लंड और पत्थर शरीर वाले लौंडे की तलाश रहती है | सच कहू तो दोस्तों मैं एक बहुत बड़ी चुदक्कड़ हूँ | मुझे चुदाई इतनी ज्यादा पसंद है कि अगर मुझे कोई कहीं भी चुदने को बोले तो मैं कहीं भी चुद जाऊं लेकिन बस गर्मी में चुदने को कोई न बोले | आज मैं आप लोगो को अपनी नहीं बल्कि अपनी एक दोस्त की कहानी सुनने जा रही हूँ | मेरी एक पक्की दोस्त जो चुदाई के नाम पर पसीने छोड़ देती थी आज वो भी मेरी तरह ही एक चुदक्कड़ लड़की बन चुकी है और उसे तो मुझसे भी ज्यादा मोटे लंड चाहिए अपनी चूत में | मैं तो फिर भी अपनी चूत पर कंट्रोल कर सकती हूँ लेकिन वो नहीं | तो चलिए ले कर चलती हूँ उसकी जिन्दगी में आप लोगो को ले कर चलती हूँ | मेरी एक फ्रेंड है जिसका नाम श्रुति है और वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त है | वैसे दोस्तों मेरी दोस्त दिखने में बहुत ही सुन्दर है और उसका फिगर भी लाजवाब है | वो दिखने में एक दम दूध की मलाई जैसी गोरी है | उसके दूध भी मस्त हैं और उसकी गांड भी अच्छी चौड़ी है | दोस्तों अब मैं आप लोगो को ज्यादा समय नही लूंगी और अपनी कहानी लिखना चालू करती हूँ |

मेरे घर में, मैं और मेरे मम्मी पापा रहते हैं |  मैं अपने घर की लाडली बेटी हूँ इसीलिए मुझे मेरे घरे वाले बहुत प्यार करते हैं और मेरे लिए किसी भी चीज़ की पाबन्दी नहीं है | मेरे घर वालो का ये कहना है कि तुझे जो करना है करे हम तुझे न ही टोकेंगे और नहीं कुछ बोलेंगे पर कभी जिन्दगी में ऐसा कुछ मत काना जिससे तेरे मम्मी पापा की बेज्जती हो | मैंने भी इस चीज़ को दिल में लिया और मैंने ऐसा सोचा था कि कभी कोई गलत काम नहीं करुँगी लेकिन जब मैंने जवानी की देहलीज में कदम रखे तभी से मुझे सेक्स करने कि बहुत इच्छा होने लगी | अब मैं ये चीज़ तो किसी को बता नहीं सकती कि मैं सेक्स करना चाहती हूँ इसलिए ये बात मैंने सबसे छुपा कर अपने चचेरे भाई के साथ सेक्स का मजा ले चुकी थी | उसके साथ मेरा पहला सेक्स था और वो सब कैसे हुआ वो मैं बाद में बताउंगी लेकिन अभी फिलहाल में मैं अपनी दोस्त के बारे में बताती हूँ | मेरी द्सोतो श्रुति जिसके घर में वो और उसका छोटा भाई अपने माँ के साथ रहते हैं क्यूंकि उसके पापा बहुत बड़े कारोबारी हैं और ज्यादातर घर से बाहर ही रहते हैं | हम दोनों की दोस्ती कोचिंग में हुई थी | जब मैं बारहवी में पढ़ती थी किसी और स्कूल में और वो किसी और मैं | लेकिन हमारी कोचिंग सेम ही थी | हम दोनों एक ही डेस्क में बैठते थे क्यूंकि उसे भी फर्स्ट बेंच में बैठना पसंद था और मुझे भी |

जब हम दोनों की दोस्ती ज्यादा गहरी हो गई तब हम पीछे बैठ कर बहुत बाते करते थे और फर्स्ट बेंच वाला झंझट ही दूर कर दिए | मैं अक्सर उसे चुदाई की बाते किया करती थी | अब मैं तो चुदक्कड़ थी पर वो नहीं थी इसीलिए जब भी मैं उसे चुदाई के बारे में बताती तो वो मुझे चुदने की बात करती | एक दिन मैंने भी उसे हाँ कर दिया | मैंने उसकी दोस्ती एक अमन नाम के लड़के से करवा दी | जब से मैंने उसकी दोस्ती उस लड़के से करवाई तो वो दो दिन कोचिंग भी नहीं आ रही थी | मैं समझ गई कि कुछ लोचा है वो तीसरे दिन कोचंग आई तो मैंने उससे पूछा कि तू दो दिन कहाँ थी तो उसने कहा कि मैं दो कोचिंग से गोल मार कर अमन के घर जा कर सेक्स करती थी | मैंने कहा अच्छा वैसे मैं ये सब समझ चुकी थी लेकिन ये बता उसने तुझे कैसे चोदा ? तो उसने बताया कि जब मै कोचिंग आ रही थी तभी मुझे अमन ने कहा कि मेरा घर खाली है तो मेरे घर आ जाओ हम सेक्स करेंगे मैंने भी कह दिया ठीक है आती हूँ | जब मैं उसके घर गई तो उसने पहले तो बैठाया और उसके बात शरबत पिलाया और फिर अपने रूम में ले जा कर मुझे अपनी बांहों में कस कर जकड़ लिया | मैंने भी उसे मना नही की क्यूंकि मैं तो खुद सेक्स करना चाहती थी | उसके बाद उसने मेरे होंठ से अपने होंठ लगा दिया और मेरे होंठ को चूसने लगा और मैं बी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे दूध को मसलने लगा और मैं भी होंठ को चूसते हुए उसके बदन को सहलाने लगी | हम दोनों ने एक दुसरे के होंठ को लगभग 15 मिनट तक चूसे | उसके बाद उसने मेरे स्लीवलेस टॉप को निकाला और ब्रा के उपर से ही मेरे दूध को जोर जोर से दबाने लगा तो मेरे मुंह से आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह की गरम गरम सिस्कैर्याँ निकलने लगी |

फिर मैंने अपने ब्रा ओ जैसे ही उतारी तो वो मेरे दूध की ओर झपट कर अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगी | वो मेरे दोनों दूध को बारी बारी से जोर जोर से दबा कर चूस रहा और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | उसके बाद उसने मेरे जीन्स को उतार दिया और पेंटी को भी उतार कर मुझे नंगी कर दिया | मुझे शर्म भी आ रही थी और मजा भी आ रहा था | उसने मुझे लेटा दिया और मेरे दोनों पैरो को फैला दिया और मेरी चूत में अपनी जीभ रख कर चाटने लगा और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए मदहोश होने  लगी | वो मेरे चूत पर अपनी जीभ आगे पीछे करते हुए चाट रहा था और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी |

जब उसने मेरी चूत चाट लिया तो मैंने भी उसके सारे कपडे उतार कर उसे भी नंगा कर दी और उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिला कर कड़क करने लगी | फिर मैं उसके लंड पर अपनी जीभ फेर कर चाटने लगी तो उसके मुंह से भी आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | मैं उसके लंड को अपनी जीभ से चाट क्र एक दम गीला कर रही थी और वो आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां भर रहा था | उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए मेरे निप्पलस को खींच कर दबाने लगा | मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुये मजे ले रहा था | उसके बाद उसने मुझे लेटा कर मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया और चोदने लगा और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते हुए चुदाई के नशे में डूबने लगी कुछ देर की चुदाई के बाद उसने अपनी चुदाई तेज कर दिया और जोर जोर से मेरी चूत को चोदने लगा और मैं आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह आहा उन्नह ऊम्ह करते अपने दूध को मसलने लगी | फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मुझे पीछे से चोदने लगा तो मैं भी अपनी चुदाई में बहुत खुश हो रही थी | फिर उसने अपना वीर्य मेरी गांड के ऊपर ही छोड़ दिया |