मेरी छोटी बहन ऋतु-4

incest sex stories, indian sex kahani दोस्तों, आज मैं हाजिर हूँ कहानी का अंतिम भाग लेकर। अब मम्मी-पापा के वापस आने की तारीख नजदीक आ रही और इसका मतलब ये भी था की अब हम दोनों ऐसे खुल के चुदाई नहीं कर पाएंगे। मैंने ऋतू से कहा – ऋतू, मेरी एक इच्छा है। वो बोली – बोलो भैया। मैंने कहा -मुझे तुम्हारी सेक्सी गांड मारनी है। वो पहले तो बोली की बहुत दर्द होगा लेकिन फिर मान गयी। उसको भी पता था की मम्मी पापा के आने के बाद छह कर भी वो मेरी ये इच्छा पूरी नहीं कर पाएगी। उसने कहा – चलो, लुब्रीकेंट या क्रीम ले आना और फिर रात में क्र लेना। मैं खुश हो गया। मैं दिन में जाकर लुब्रीकेंट ले आया और रात का इंतजार करने लगा। हम दोनों खाना खाया और फिर गए।

मुझे रहा नहीं जा रहा था अब। मैंने उसको पकड़ा लिया तो उसे भी मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं भी चुदासा था तो मैं क्यू हाँथ आया मौका छोड़ता | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को पकड के हिलाने लगी | मैं भी उसके होंठ को चूसते हुए उसकी चूत में ऊँगली करने लगा।

फिर उसके बाद मैंने उसकी सलवार और सूट को उतार दिया और उसके ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को मसलने लगा। वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे हाँथ को सहलाने लगी। फिर मैंने उसके ब्रा के भी खोल दिया और फिर उसके मस्त दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आ आ हाआ ऊ ऊन्न्ह ऊऊ म्म् ह ऊउम् म ऊ उन् न्ह अहहा आ अ हाअ अहहहा ह हहा आअ अह हहाआ ऊ उन् न्ह ऊ उ म् म् ह ऊनंह ऊउ म्म्म् ह अह हहाआ आ अ आहा आआउ न्ह ऊउन्न्ह ऊ उम् म्ह आहा आआआ हा ऊउम् म्ह ऊउ न्न्ह आअहाआअ करते हुए कहा कि पी लो जान मेरे इन भरे हुए दूध को। मैंने भी कहा हां मेरी बहना जान और मसल मसल के उसके दूध पीने लगा। उसके मुंह से लगातार आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की आवाजे निकल रही थी और उसकी चूत भी गीली हो चुकी थी।

उससे भी कण्ट्रोल नहीं हुआ और वो मेरे लंड को पकड़ के चाटने लगी और लंड के सुपाडे पर अपनी जीभ फेरने लगी। मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | मेरे लंड को वो बहुत अच्छे से चाट रही थी ऐसा लग रहा था जैसे स्वाद ले रही हो।

मेरे लंड को चाटने के बाद उसने अपने मुंह में डाल लिया और ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगी | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके दूध के निप्पलस को मसलने लगा। वो मेरे लंड को अपने गले तक ले रही थी | उसकी लार मेरे लंड से टपकते हुए मेरे अन्टोलो को भिगो रही थी। उसके बाद मैंने उसे बेड पर घोड़ी बना दिया और उसकी चूत और गांड दोनों को चाटने लगा। वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मजे लेते हुए अपने दूध को दबाने लगी | फिर उसने कहा कि भैया अब चोद दो मुझसे नही रहा जा रहा है। तो मैंने कहा ठीक है और सीधा उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और चोदने लगा। वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए बोल रही थी कि और चोदो मेरी चूत को फाड़ दो इस भोसड़ी को। मैं भी उसकी चूत को जोर जोर से चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी।

अब मैं बोलै – चलो बहना, तैयार हो जाओ। वो समझ गयी की अब उसकी गांड की बारी है। मैंने उसकी गनद के छेद पर ढेर सारा लुब्रीकेंट लगाया और अपने लंड पर भी। उसकी गांड पर टिका कर मैंने जोर का झटका दिया। वो रो पड़ी। मैंने लैंड बाहर निकाला और फिर से डाल और गांड में डाल दिया | उसे दर्द नहीं हुआ तो मैं समझ गया कि ये गांड भी चुदवाती है | फिर मैं उसके दोनों दूध को पकड के उसकी गांड मारने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | मैं उसकी गांड पे थप्पड़ मारते हुए चोद रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए गांड चुदाई का मजा ले रही थी | उसके बाद मैंने उसकी गांड में ही अपना वीर्य छोड़ दिया |
हम लोग अब जब भी मौका मिलता है, चुदाई कर लेते हैं।