लंड चूत से टकराया

Antarvasna, hindi sex kahani: कॉलेज का मेरा पहला दिन था मैं जब अपनी क्लास में गया तो मैं बेंच पर जाकर बैठ गया। मैं जब बैठा हुआ था तो थोड़ी ही देर बाद सामने से एक लड़की आई उसे देखकर मेरे दिल की धड़कन तेज होने लगी। यह पहली बार था जब मैंने कावेरी को देखा कावेरी को देखकर मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था। उस दिन क्लास में हम सब लोगों का परिचय हुआ और थोड़े ही दिनों बाद मेरी कावेरी से अच्छी बातचीत होने लगी। हम लोग एक दूसरे के बहुत ज्यादा करीब आ गए और हम लोग एक दूसरे के काफी अच्छे दोस्त बन चुके थे। मुझे काफी ज्यादा अच्छा लगता है जब भी कावेरी और मैं साथ में समय बिताया करते, कावेरी को भी हमेशा मेरे साथ अच्छा लगता था और वह हमेशा ही मुझे कहती थी की मुझे तुम्हारे साथ बहुत ही अच्छा लगता है।

कावेरी और मेरे बीच काफी अच्छी दोस्ती हो चुकी थी इसलिए कावेरी ने एक दिन मुझे अपने घर पर चलने के लिए कहा और मैं भी कावेरी के घर पर चला गया। यह पहली बार था जब मैं कावेरी के घर पर गया था कावेरी के पापा मम्मी दोनों ही टीचर हैं और मुझे कावेरी के पापा मम्मी से मिलकर काफी ज्यादा अच्छा लगा। मैं काफी ज्यादा खुश था जब मैं उन लोगों से मिला यह पहली बार ही था जब मैं कावेरी के पापा मम्मी से मिला था और उन लोगों से मिलकर मुझे काफी अच्छा लगा। उसके बाद कावेरी को भी मैंने अपने घर पर इनवाइट किया जब कावेरी मेरे घर पर आई तो मैंने उसे अपनी फैमिली से मिलवाया। कावेरी को मेरी फैमिली से मिलकर काफी अच्छा लगा और सबसे ज्यादा करीब तो कावेरी मेरी छोटी बहन के थी। मेरी छोटी बहन पायल और कावेरी की काफी अच्छी बनने लगी थी और वह दोनों एक-दूसरे से काफी बातें करते। समय बीतता जा रहा था और हम दोनों के बीच की नजदीकियां और भी ज्यादा बढ़ती गई।

अब मेरी जॉब लग चुकी थी और कावेरी भी जॉब करने लगी थी लेकिन उसके बाद भी हम दोनों एक दूसरे को अक्सर मिला करते थे। जब भी हम एक दूसरे को मिलते तो हम दोनों को ही बहुत अच्छा लगता। मुझे काफी खुशी होती थी जब भी मैं कावेरी से मिला करता। मैंने एक दिन कावेरी को फोन किया मैंने जब उस दिन कावेरी को फोन किया तो उसने मुझे कहा कि सुरेश अभी तुम कहां हो तो मैंने उसे कहा मैं तो अभी ऑफिस में हूं। कावेरी ने मुझे कहा कि तुमने फोन किया क्या कोई जरूरी काम था तो मैंने कावेरी से कहा हां मुझे तुमसे मिलना था वह मुझे कहने लगी कि ठीक है हम लोग मुलाकात करते हैं। उस दिन हम लोगों ने मुलाकात की जब मैं कावेरी को मिला तो कावेरी बहुत ही ज्यादा खुश थी। मैंने उस दिन कावेरी को प्रपोज किया और जब मैंने कावेरी को प्रपोज किया तो उसने भी मेरे प्रपोज को स्वीकार कर लिया उसने मेरे प्रपोज को तुरंत ही स्वीकार कर लिया और मुझे इस बात की बहुत ज्यादा खुशी थी कि अब कावेरी और मैं एक दूसरे के साथ प्यार करने लगे है।

हम दोनों की दोस्ती प्यार में बदल चुकी थी कावेरी मेरा बहुत ध्यान रखती और मुझे भी कावेरी के साथ काफी ज्यादा अच्छा लगता। हम दोनों एक दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश किया करते और जब भी हम लोग एक दूसरे के साथ होते तो हमे काफी ज्यादा अच्छा लगता। कावेरी चाहती थी कि हम दोनों एक हो जाएं और अब हम लोग शादी कर ले, मैं भी चाहता था कि मैं कावेरी से शादी कर लूं। हम दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया था मैंने जब पहली बार कावेरी के बारे में अपने घर पर बात की तो उन्होंने भी तुरंत हां कह दिया और कहा कि कावेरी बहुत ही अच्छी लड़की है और हमें कावेरी बहुत पसंद है। सब लोग मेरे फैसले से काफी खुश थे और जब कावेरी ने मुझे बताया कि उसकी फैमिली भी हम दोनों की शादी के लिए अब तैयार हो चुकी है तो मैं काफी ज्यादा खुश था। मुझे कावेरी के साथ बात करना तो अच्छा लगता ही था अब हम दोनों एक दूसरे के साथ शादी के बंधन में भी बनने वाले थे। हम दोनों के परिवार वालों ने हम दोनों की सगाई करवा दी, हम दोनों की सगाई हो चुकी थी और हम दोनों ही बहुत ज्यादा खुश थे। एक दिन कावेरी ने मुझे कहा कि सुरेश आज हम लोग मूवी देखने के लिए चलते हैं उस दिन मैंने कावेरी से कहा ठीक है।

मैं कावेरी को लेने के लिए उसके घर पर चला गया जब मैं कावेरी को लेने के लिए उसके घर पर गया तो वह तैयार हो चुकी थी और मेरा इंतजार कर रही थी। कावेरी और मैं उस दिन मूवी देखने के लिए गए हम दोनों ने साथ में मूवी देखी इससे पहले भी हम लोग ना जाने कितनी बार एक दूसरे के साथ मूवी देख चुके थे लेकिन मुझे काफी अच्छा लगा और हमने साथ में काफी अच्छा समय बिताया। जब मैंने कावेरी को उसके घर तक छोड़ा तो कावेरी मुझे कहने लगी कि सुरेश हम लोग कल मिलते हैं। मैंने कावेरी को कहा कावेरी कल मैं ऑफिस नहीं जा रहा हूं तो कावेरी ने मुझे कहा कि मैं भी सोच रही हूं कि कुछ दिनों का ब्रेक ले लूं। कावेरी ने अगले दिन ऑफिस से छुट्टी ले ली थी और मैंने भी ऑफिस से छुट्टी ले ली थी इसलिए हम दोनों उस दिन मिले। जब मैं कावेरी को मिला तो कावेरी बहुत ही ज्यादा खुश थी और उस दिन हम दोनों ने साथ में बहुत ही अच्छा समय बिताया। हम दोनों की शादी का दिन नजदीक आने वाला था। हम दोनों की शादी होने वाली थी और मैं बहुत ही खुश था कावेरी मेरी पत्नी बनने वाली है। जब हम दोनों की शादी हो गई तो कावेरी मेरी पत्नी बन चुकी थी। हम दोनों की शादी की पहली रात को हम दोनों ही खूब इंजॉय करना चाहते थे। इससे पहले कावेरी और मेरे बीच किस ना जाने कितनी ही बार हो चुके थे लेकिन उससे आगे हम दोनों कभी बढ़ नहीं पाए थे। यह बहुत ही अच्छा मौका था कि कावेरी और मै एक दूसरे के बदन की गर्मी को महसूस करे।

कावेरी भी बहुत ज्यादा खुश थी मुझे भी काफी ज्यादा अच्छा लग रहा था। मैंने कावेरी के हाथों को पकड़ा और उस से मैंने बात की। उसके हाथों को मै सहलाए जा रहा था। जब मुझे लगने लगा वह बहुत ज्यादा गर्म होने लगी है तो मैंने कावेरी को अपनी बाहों में ले लिया। अब कावेरी मेरी बाहों में आ चुकी थी वह मेरे अंदर की गर्मी को पूरी तरीके से बढा चुकी थी। हम दोनों की गर्मी अब इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि हम दोनों ही बिल्कुल भी रह नहीं पा रहे थे। मैंने कावेरी के बदन को महसूस करना शुरू कर दिया था। मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया था कावेरी बिस्तर पर लेटी हुई थी वह मेरे अंदर की गर्मी को बढाए जा रही थी। हम दोनों के  अंदर की गर्मी बढ़ती जा रही थी अब हम दोनों के अंदर की गर्मी इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि मैं अपने आपको बिल्कुल भी रोक नहीं पा रहा था। मैंने कावेरी के स्तनों को चूसना शुरू किया। मैं कावेरी के सारे कपड़े उतार चुका था कावेरी मेरे सामने नंगी थी। जब मैं उसके स्तनों का रसपान कर रहा था तो मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा था और एक अलग ही आनंद की अनुभूति हो रही थी। मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए अब मेरा लंड कावेरी की योनि से टकराना लगा।

मेरा लंड कावेरी की चूत से टकरा रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। कावेरी को भी बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था हम दोनों के अंदर की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ रही थी और हम दोनों ही काफी ज्यादा खुश थे। मैंने कावेरी की चूत को चाटना शुरू किया। मैंने जब कावेरी की योनि को चाटना शुरू किया तो उसे मज़ा आने लगा। अब वह मेरे अंदर की गर्मी को काफी बढ़ने लगी थी। कावेरी को बहुत ज्यादा मजा आने लगा था हम दोनों के बदन गर्म होने लगे थे। मैंने कावेरी को कहा मुझे बहुत ज्यादा मजा आने लगा है। कावेरी मुझे कहने लगी मुझे भी काफी ज्यादा अच्छा लग रहा है। मैंने कावेरी की चूत पर अपने मोटे लंड को लगाया। मैंने जब कावेरी की चूत पर अपने लंड को लगाया तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था और मैंने धीरे धीरे कावेरी की चूत के अंदर लंड को घुसा दिया। मेरा मोटा लंड कावेरी की योनि के अंदर प्रवेश हो चुका था। मैंने कावेरी की चूत की तरह देखा तो उसकी योनि से खून की पिचकारी बाहर की तरफ निकल रही थी। मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था जब मैं कावेरी को तेज गति से धक्के मार रहा था। कावेरी की चूत के अंदर बाहर मेरा मोटा लंड बड़ी आसानी से हो रहा था और मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। जब मैं कावेरी की चूत के मजे लेकर अपने अंदर की गर्मी को शांत कर रहा था।

कावेरी की चूत इतनी ज्यादा टाइट थी कि मैं ज्यादा देर तक उसकी गर्मी को झेल नहीं पाया और मेरा वीर्य जल्दी गिरने वाला था। मैंने कावेरी की आंखो मे देखा तो उसकी आंखों में खुशी थी मेरा वीर्य कावेरी की योनि में जा चुका था। मेरा वीर्य अब कावेरी की चूत मे जा चुका था। कावेरी और मैं एक दूसरे की बाहों में थे। हम दोनो साथ मे लेटे हुए थे मेरे हाथों में कावेरी के स्तन थे और मैं उसके स्तनों को दबा रहा था। कावेरी ने भी मेरे लंड को अपने हाथों में ले लिया और वह उसे हिलाने लगी। मेरे लंड से अभी भी मेरा वीर्य बाहर की तरफ को निकल रहा था। जब कावेरी ने मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया तो मुझे अच्छा लगने लगा। कावेरी ने मेरे लंड को तब तक चूसा जब तक उसने मेरे अंदर की गर्मी को शांत नहीं कर दिया। अब वह मेरे अंदर की गर्मी को पूरी तरीके से बुझा चुकी थी। मैं बहुत ज्यादा खुश था कि कावेरी ने मेरे अंदर की गर्मी को शांत कर दिया है।