क्या तुम सिर्फ चुदाई करने आए हो?

Antarvasna, hindi sex stories: शादी की तैयारियों से सब लोग बहुत ही खुश थे और हमारे सारे रिश्तेदार हमारे घर पहुंच चुके थे भैया भी अपनी शादी से बहुत खुश है क्योंकि भैया की पसंद से जो शादी हो रही थी। भैया और भाभी की मुलाकात कॉलेज के समय में ही हुई थी और उन दोनों के बीच काफी प्यार था इसलिए उन दोनों ने शादी करने के बारे में सोच लिया था लेकिन पापा को यह रिश्ता मंजूर नहीं था परंतु अब पापा भी इस रिश्ते के लिए तैयार हो चुके थे। घर में सब लोग बड़े ही खुश थे जब भैया और भाभी की शादी हुई तो उस वक्त हमारे सारे रिश्तेदार हमारे घर पर आए हुए थे शादी बड़े ही धूमधाम से हो चुकी थी और भैया अपनी शादी से बहुत खुश थे। भैया कुछ दिनों के लिए भाभी के साथ घूमने के लिए विदेश चले गए जब भैया घूमने के लिए विदेश गए तो उसके बाद से ही मैं भी अपने शादी के ख्याल देखने लगा लेकिन मेरे जीवन में कोई लड़की थी ही नहीं। मैं भी अब एक अच्छी कंपनी में जॉब करने लगा था और मैं भी सोचने लगा कि जल्द ही मेरी शादी भी हो जानी चाहिए और सब लोग अब मेरी शादी की ही बात कर रहे थे लेकिन मुझे क्या पता था कि जल्द ही मेरे सपनों की राजकुमारी मुझे मिल जाएगी।

जब मुझे पहली बार पायल मिली तो पायल से मिल कर मैं बहुत खुश हुआ पायल से मेरे पुराने दोस्त ने मुझे मिलाया था जब मैं पायल से मिला तो पायल से मेरे ख्यालात काफी मिलते-जुलते थे हम दोनों की पसंद भी एक जैसी थी इसलिए हम दोनों एक दूसरे को अक्सर मिलने लगे। धीरे धीरे यह मुलाकात प्यार में बदल गई और हमें पता ही नहीं चला हम दोनों अक्सर मिलते रहते थे जब भी हम दोनों एक दूसरे से मुलाकात करते तो हम दोनों को बहुत अच्छा लगता और हम दोनों बहुत खुश हो जाते। अब यह बात मैंने अपने भैया को भी बता दी थी पायल के बारे में मैंने अपने भैया को बता दिया था वह चाहते थे कि वह एक बार पायल से मुलाकात करे। उन्होंने जब पायल से मुलाकात की तो उन्हें पायल काफी अच्छी लगी और उन्होंने कहा कि पायल तुम्हारे लिए बहुत ही अच्छी लड़की है उससे शादी कर लो। भैया ने मुझे यह कहा तो मैंने भैया से कहा लेकिन भैया आपको ही पापा से बात करनी पड़ेगी पापा बड़े ही सख्त मिजाज हैं और उन्हें मनाना थोड़ा मुश्किल होता है।

भैया ने जब पापा से बात की तो पहले वह नाराज हो गए और उसके बाद पापा शादी के लिए तैयार हो चुके थे उन्हें मनाने में काफी समय लगा। पायल और मैं बहुत खुश थे क्योंकि पायल के परिवार वाले तो मुझसे पहले ही मिल चुके थे और उन्हें मुझसे कोई आपत्ति नहीं थी वह लोग मुझे पहले ही अपना चुके थे। पायल और मेरी शादी भी जल्द होने वाली थी हम दोनों अपनी शादी की तैयारियों में लगे हुए थे यह सब इतनी जल्दी हुआ कि कुछ पता ही नहीं चल पाया। अभी 6 महीने पहले ही तो भैया की शादी हुई थी और 6 महीने बाद मेरी शादी होने वाली थी। पायल और मेरा मिलना सब कुछ इत्तेफाक ही था और सब कुछ इतनी जल्दी से हो रहा था कि मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि मैं सपना देख रहा हूं। पायल और मैंने अपनी शॉपिंग कर ली थी और जब हम दोनों ने अपनी शॉपिंग कर ली थी। हमारी शादी से दो दिन पहले हम दोनों मिले और उस दिन मैं पायल के साथ बैठा हुआ था मैंने पायल का हाथ पकड़ लिया और पायल से कहा कि पायल मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि तुमसे मेरी शादी हो पाएगी। पायल मुझे कहने लगी कि रोहन मैंने भी कभी नहीं सोचा था कि तुमसे मैं शादी कर पाऊंगी और यह सब इतनी जल्दी में हुआ कि मुझे कुछ पता ही नहीं चल पाया कि कब मेरी तुमसे शादी होने वाली है। हम दोनों के लिए तो यह एक सपने जैसा ही था और हम दोनों अपनी शादी को कुछ खास बनाना चाहते थे मैंने अपने सारे दोस्तों को अपनी शादी में इनवाइट किया था और पायल भी चाहती थी कि उसकी सारी सहेलियां शादी में आए। शादी हो जाने के बाद हम दोनों भी कुछ दिनों के लिए कहीं घूमने के लिए जाना चाहते थे क्योंकि हम दोनों को ही घर पर बिल्कुल भी समय नहीं मिल पा रहा था हम दोनों अकेले में समय बिताना चाहते थे। हालांकि इससे पहले भी पायल और मैं कई बार एक दूसरे से मिल चुके थे लेकिन फिर भी शादी के बाद हम दोनों चाहते थे कि हम दोनों कहीं घूमने के लिए जाएं। मैंने भी अपने ऑफिस से कुछ दिनों की छुट्टी ले ली थी शादी के एक महीने के बाद मैंने अपने ऑफिस से छुट्टी ली थी और जब अपने ऑफिस से मैंने छुट्टी ली तो उसके बाद मैंने फौरन जाने के बारे में सोच लिया था।

मैंने अपने दोस्त से पूछा तो उसकी सलाह से मैं फौरन जाना चाहता था क्योंकि मेरे दोस्त का बाली में कारोबार है इसलिए उसने मुझे कहा कि तुम कुछ दिनों के लिए बाली हो आओ और मैं उसके कहने पर बाली चला गया। मैं जब पहली बार बाली गया तो मुझे बहुत ही अच्छा लगा। मेरे दोस्त ने ही सब कुछ अरेंजमेंट करवा दिया था उसने ही होटल की बुकिंग से लेकर फ्लाइट की टिकट सब कुछ करवा दी थी पायल और मैं बहुत खुश थे। हम लोग जब बाली पहुंचे तो मैंने पायल का हाथ पकड़ते हुए कहा पायल को कहा अब तो हमे कुछ दिन अकेले में समय बिताने का मौका मिल जाएगा। पायल मुझे कहने लगी हां रोहन तुम ठीक कह रहे हो घर पर तो मुझे बिल्कुल भी समय नहीं मिल पाता था। जब हम लोग होटल मे पहुंचे तो होटल में पहुंचते ही मैंने पायल से कहा कि तुम अपने कपड़े उतार दो। पायल ने अपने कपड़े उतार दिए और कहने लगी तुम कुछ देर सब्र कर लो। मैंने पायल से कहा मुझसे बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हो रहा है मैं चाहता हूं कि मैं तुम्हारी चूत जल्दी से मारू।

पायल ने कहा अभी मैं अपने कपड़े उतार देती हूं पायल ने अपने कपड़े उतार दिए और वह मेरे साथ बिस्तर में लेट गई। हम दोनों नंगे लेटे हुए थे और एक दूसरे के बदन को हम लोग महसूस कर रहे थे। तभी दरवाजे की घंटी बजी मेरे सेक्स मे एकदम से बाधा पड़ गई और मैंने अपने कपड़े पहनते हुए जब दरवाजे को खोला तो मैंने देखा होटल का ही एक कर्मचारी था। उसने मुझे कहा सर यदि कुछ जरूरत हो तो आप हमें बता दीजिएगा। मैंने उसे कहा ठीक है उसके बाद वह चला गया वह जब गया तो मैं बिस्तर पर कूद गया। मैंने पायल के बदन को महसूस करना शुरू कर दिया पायल के बदन को मै बड़े अच्छे से महसूस कर रहा था और उसके बदन की गर्मी पूरी तरीके से बढ़ चुकी थी। उसके बदन से इतनी अधिक गर्मी निकालने लगी वह कहने लगी तुम्हारे लंड को मुंह मे लेना है। उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर लिया। वह बड़े अच्छे से लंड को सकिंग कर रही थी। मैंने उससे कहा तुम्हारी चूत देख मुझे बहुत अच्छा लग रहा है उसने अपनी चूत पर बाल साफ कर दिए थे और उसकी चूत पर जब मैंने अपनी जीभ को लगाया तो मुझे उसकी चूत को चाटने मे बड़ा मजा आने लगा। मैं उसकी चूत को चाट रहा था मुझे पायल की चूत को चाटने में अच्छा लग रहा था। वह अपने पैरों को खोल रही थी उसने मुझे कहा तुम अब मुझे इतना मत तड़पाओ मैं बहुत ज्यादा तड़प रही हूं। मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर लगाया और धीरे धीरे अंदर की तरफ डालना शुरू किया मेरा लंड पायल की चूत मे जाते ही वह बड़ी जोर से चिल्लाई और कहने लगी रोहन तुम्हारा लंड कितना मोटा है। मैंने उसे कहा पायल क्या इस से पहले तुमने मेरे लंड को कभी अपनी चूत मे नहीं लिया था। वह मुझे कहने लगी मैं तो जब भी तुम्हारे लंड को अपनी चूत मे लेती हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैंने उसे कहा अब तुम अपने पैरों को खोलो। उसने अपने पैरों को खोला तो मैंने उसके दोनों पैरों को अपने हाथों से कसकर पकड़ लिया और उसे मैं बड़ी तेज गति से धक्के मारने लगा। उसे बहुत मजा आ रहा था वह भी मेरा साथ बड़े अच्छे से दे रही थी उसने मेरा साथ बड़े अच्छे से दिया और मुझे कहा तुम ऐसे ही मुझे चोदते रहो।

मैंने उसे कहा मैं तुम्हें अब घोड़ी बनाकर चोदने वाला हूं वह कहने लगी मुझे तुम ऐसे ही चोदते रहो। मैंने उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को बहुत देर तक किया अब उसकी गर्मी इस कदर बढ़ चुकी थी कि वह मुझे कहने लगी मेरी चूत से निकलता हुआ पानी कुछ ज्यादा ही बढ़ चुका है तुम मुझे ऐसे ही धक्के देते रहो। मैंने उसे बहुत देर तक धक्के दिए मेरे लंड से मेरा वीर्य बाहर की तरफ को निकलने लगा था। मैंने अपने वीर्य को पायल की योनि के अंदर ही गिरा दिया। पायल की चूत मे वीर्य गिरते ही मैंने उसे कहा तुम मेरे लंड को अपने मुंह में ले लो। उसने अपने मुंह के अंदर मेरे लंड को ले लिया वह कहने लगी तुम्हारा लंड कुछ ज्यादा ही मोटा महसूस हो रहा है। मैंने उसे कहा मुझे तो तुम्हें चोदने मे आज बहुत ही मजा आया।

पायल मुझे कहने लगी तुम तो सिर्फ यहा पर चुदाई के लिए आए हुए हो। मैंने उसे कहा हम लोग अभी घूमने के लिए भी जाएंगे लेकिन पहले तुम मेरी इच्छा तो पूरी कर दो। मैंने अपने लंड पर तेल लगाया और उस तेल से मेरा लंड इतना चिकना हो चुका था कि मैंने उस तेल को पायल कि गांड मे लगा दिया। पायल बोली मैं तुमसे गांड मरवाना नहीं चाहती हूं मैंने पायल से कहा मुझे तुम्हारी गांड मारनी है और मैंने पायल की गांड मे अपने लंड को घुसा दिया। पायल कहने लगी तुमने मेरी गांड को फाड़ कर रख दिया है मैंने उसे कहा मुझे तुम्हारी गांड मारने में मजा आ रहा है। मैं उसे अब बड़ी तेज गति से धक्के देता रहा मैं जिस गति से उसे धक्के मार रहा था उससे वह इतनी ज्यादा उत्तेजित हो रही थी कि वह अपनी चूतड़ों को मुझसे मिला रही थी और मुझे कहने लगी मुझे तुमसे अपनी गांड मरवाकर मजा आ रहा है। मैंने उसे कहा मुझे तो तुम्हें धक्के देने मे बहुत ही अच्छा लग रहा है और मुझे महसूस हो रहा है कि मेरा वीर्य गिरने वाला है। मैंने अपने वीर्य को पायल की गांड में गिरा दिया था। बाली मे हम लोगों ने खूब इंजॉय किया और उसके बाद हम लोग वापस लौट आए थे।