जिगोलो के साथ मजे -2

हेल्लो दोस्तों, मैं हाजिर हूँ कहानी का अगला भाग लेकर के . वो मेरे बूब्स को चुसे जा रहा था और मैं सिसकियाँ ले रही थी . अब वो मेरे पेट पर किस करने लगा . मुझे अच्छा लग रहा था . मुझे गुदगुदी भी हो रही थी . मैंने अब उसको नीचे की तरफ धक्का दिया . वो समझ गया और मेरे पैरों के बिच में अपना मुंह ले गया . मैंने काली पैंटी पहन रखी थी . उसने पैंटी के ऊपर अपना मुंह रखा और एकदम निशाने से मेरी चूत पर अपनी जीभ रखकर चूसने लगा . मेरी चीख निकाल गयी . मैं आह्ह ह ह ह हह ह हह ह उ उई इ इ ई इ ई उ म म म मम मम म म मम  अहह हह ह हह हह ह ह हह ह ह ह हह उ म मम म मम्म म मम्म म मम  अहः हह ह ह हह ह ह्ह्ह्ह उम् म मम  अहह ह ह हह हह ह हह ह हह ह ह उम् म म म मम अहहह ह हू इ ई ई इ ईई इ ई इ ई ओ हह हह ह ह ह ह हह हह हह उम म म अहः ह ह हह  करने लगी . उसने कहा – आपकी पुसी से बहुत अच्छी खुसबू आ रही है . मैं बोली – तो चाट लो न . वो मुस्कुरा दिया .

अब उसने मेरी पैंटी भी निकाल दी . मेरी बिना झाटों वाली चूत अब उसके सामने थी . वो मेरी चूत चाटने लगा . उसने अपनी जीभ क्लिट पर रखी और चाटने लगा . मुझे बहुत जोश आ रहा था . मैं उसका सर पकड़ कर बाल सहलाते हुए आह हह ह ह हह ह ऊई ईई ई इ ई इ इ इ इ ई ई इ इ अहः ह्ह्ह्ह हह ह उ म मम म अहः ह ह ह हह ह ह उ मम मम  ओह ह ह्हह्हा हहह्ह ह हह ह उम् म म मम अहह्ह्ह ह ह हह ह ह हह उ ई ई ईई ई इ इ ई उम मम म म म अहह ह हह ह हह हह ह ह ओह ह ह हह ह ह हह ह अहः ह हह ह हह ह्ह्ह ह ह ह ह उ मम म म अह्ह्ह ह ह ह ह्ह्ह ह ह हह करने लगी . उसने अब अपनी जीभ मेरी चूत के नदर डाल दी और चाटने लगा . मुझे कामुकता चढ़ रही थी . वो मेरी चूत को अपनी जीभ से चोदे जा रहा था . मैं लगातर सिसकियाँ ले रही थी .

थोड़ी देर बाद मैं झड गयी . वो मेरा सारा माल पी गया . मुझे अच्छा लगा . अब उसने अपनी पैंट उतार दी और चड्ढी भी . उसका बड़ा लंड मेरे सामने था . मुझसे रहा नही गया तो मैं उसके लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी . मुझे चूसने का मन नही था इसिलए मैंने चूसा नही और बोली – ये मुझे अपने अन्दर चाहिए . वो बोला – जैसा आपका मन . अब उसने मुहे लिटाया और मेरी चूत पर लंड को रखकर धक्का दिया . मेरी चूत कसी है इसीलिए मुझे दर्द हुआ . मैं आह्ह ह ह हु उ ई इ ईई इ ई इ इ मर गयी इ ई इ ई इ ई इ इ ई ईई ई इ इ अहह आःह ह हह ह ह हह ह ह हह ह उ मम म म ओ ह्ह्ह्हह्ह ह हह ह ह ह्ह्ह्ह ह ह ह ह ह्ह्ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह्ह हह  करके चिल्ला रही थी . उसने बिना रुके लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया . मुझे बहुत मजा आ रहा था . मैंने भी उसका साथ देना शुरू कर दिया .

थोड़ी देर बाद उसने पोजीशन बदलने को कहा . मैं तो तैयार ही थी . मैंने उसको लेटने को बोला और उसके लंड पर बैठकर उछलने लगी . मुझे बड़ा मजा आ रहा था . मैं उसके लंड को पूरा ले रही थी अपनी चूत में और उछल रही थी . मजे में मैं जीर जोर से आह हह ह ह हह हह हह ह ह हह उ  म म मम म म ऊ इ ईई इ ई इ इ ई इ इ फक मी.. आह्ह ह ह हह ह हह ह ऊऊ ह हह हह ह हह  ओह ह्ह्ह हह ह य मम म म मम मम उ मम म मम म इ हह ह ह हह  अहह ह हह ह ह ह अहहह ह ह हह ह ह हह ह  फक मी हार्ड.. आह ह हह ह ह ह कर रही थी . मैं फिर थोड़ी देर बाद झड़ गयी और वो भी झड गया .

उस रात हम दोनों ने 5 बार चुदाई की . सुबह थक कर और उसे पैसे देकर मैं वापस घर आ गयी .