गांड मरा के आऊँगी, माँ

antarvasna हां मोम, मैं अभी जा रही हूँ . मेरी एक पार्टी है . उस पार्टी में मुझे पहले पहुंचना है . लोग मेरा इंतज़ार कर रहे होंगें ? आज तुम यहाँ घर पे ही अपने दोस्तों के साथ एन्जॉय करो ? जो मन चाहे वो करो ? वैसे आज मेरा प्लान तुम्हारे साथ गांड मरवाने का था लेकिन अचानक मेरा प्लान बदल गया है . अब मैं अपनी एक अलग पार्टी में जा रही हूँ . इसलिए तुम अपनी गांड यही मरा लेना, मैं अपनी गांड वहां से मरा के आऊंगी, मोम .
ऐसा कह कर मैं अपना पर्श उठाकर वहां से चल पड़ी .
दोस्तों मैं साईना हूँ, मेरी मोम है मिसेज सोफिया जैकब वो ४२ साल की है और मैं २३ साल की . वो आजाद है और मैं भी उनकी तरह आज़ाद हूँ क्योंकि मैं बालिग हूँ . मेरी मोम मुझसे दोस्त की तरह व्यवहार करती है . यह अमेरिका है यहाँ लड़का हो लड़की हर कोई अपने आप में आज़ाद है . किसी का किसी के ऊपर कोई कंट्रोल नहीं है . मेरी मोम खुले आम मेरे सामने लण्ड पकड़ती है, लण्ड पीती है, लण्ड चाटती है और जम कर चुदवाती है . मैं भी उसके सामने लण्ड पकड़ती हूँ, लण्ड पीती हूँ चुदवाती हूँ गांड मराती हूँ . क्यों की ये सब चोरी से करने में कोई फायदा नहीं है . मेरी मोम जानती है की मैं एक जवान लड़की हूँ . मुझे लण्ड की ज़रूरत है वो भी एक नहीं कई एक लण्ड ? मैं भी जानती हूँ की मेरी मोम अभी मस्त जवान है . उसे एक नहीं कई लौडों की ज़रूरत पड़ती है . तो फिर एक दूसरे से शर्माना कैसा ? झिझकना कैसा ? हमने समझौता कर लिया . लण्ड पकड़ो तो साथ साथ ? लण्ड चाटो, चूसो, पियो तो साथ साथ . चुदवाओ तो साथ साथ और मुठ्ठ मारो तो साथ साथ ? अब तो हम दोनों में इतनी दोस्ती हो गयी है की हम एक दूसरे को लण्ड पिलाने लगी है . एक दूसरे की बुर में लण्ड घुसेड़ने लगी है . सेक्स पार्टी में हम दोनों आमने सामने खूब झमाझम चुदवाती है . यहाँ इस देश में सब कुछ ज़ायज है ? कहीं कोई रोक टोक नहीं है . यहाँ तो मैं क्या सारी लड़कियां अपनी माँ के सामने चुदवाती है और माँ उनके सामने . बड़ा खुला खुला माहौल है इस देश में ?

अगर मैं बड़े अश्लील और खुले शब्दों में कहूं तो इसका मतलब है की यहाँ की लड़कियां अपनी माँ चुदवाती है और माँ अपनी बेटियां चुदवाती है . बहुयें अपनी सास चुदवाती है और सास अपनी बहुयें चुदवाती है ? लोग एक दूसरे की बीवियां चोदते है . अपनी बीवियां चुदवाते है . बीवियां एक दूसरे के हसबैंड से चुदवाती है . यहाँ के लोगों को अपनी बीवी दूसरों से चुदाने में ज्यादा मज़ा आता है . बीवियां भी ख़ुशी ख़ुशी अपने मर्दों को लड़कियां चोदने देती है . परायी बीवियां चोदने देती है . मुझे ग्रुप में चुदवाने में ज्यादा मज़ा आता है . मैं तो २४ घंटें में ८ घंटे तो नंगी ही रहती हूँ . लण्ड मेरे आगे पीछे घूमते है और मैं लण्ड के आगे पीछे घूमती हूँ .

बड़ा मज़ा आता है ऐसे माहौल में ? यहाँ सास बहू में झगड़ा नहीं होता बल्कि चोदा चोदी होती है . मैं तो यही पैदा हुई और पली बढ़ी . यहाँ क्लबों में नंगा डांस करती हूँ . सारे लड़कों के साथ और लड़कियों के साथ नंगी होकर नाचती हूँ . यहाँ मर्द और औरतें नंगे नंगे मिल कर डांस करते है . लड़कियां लण्ड पकड़ पकड़ कर डांस करती है और लड़के चूंचियाँ पकड़ पकड़ कर ? मैं भी लण्ड पकड़ कर डांस करती हूँ . अपनी चूंचियाँ पकड़ाकर डांस करती हूँ . खूब एन्जॉय करती हूँ . खूब चुदवाती हूँ . क्योंकि यहाँ डांस के बाद होती है घमाशान चुदाई . जिसकी चाहो उसकी चोदो बुर ? जिसका चाहो उसका पकड़ो लण्ड ? मुझे इसी तरह का माहौल पसंद है .
मैं जब पहुंची तो प्रोग्राम शुरू हो चुका था . लोगों के कपडे उतर रहे थे . कुछ लड़के मेरी तरफ आये और मेरे कपडे खोलने लगे . देखते ही देखते मैं बिलकुल नंगी हो गयी . वे मेरी पीठ पर , मेरे चूतडों पर, मेरी जाँघों पे, हाथ फेरने लगी . मेरी चूंचियाँ सहलाने लगे, चूमने लगे, मेरे गालों की चुम्मी लेने लगे . वे भी मादर चोद नंगे थे . मेरे भी हाथ उनके लण्ड तक पहुँच गये . मैं भी प्यार से उनके लण्ड हिलाने लगी . तब तक सब लोगों ने एक एक पैग शराब उठा लिया . मैंने भी एक गिलास लिया और चियर्स बोल कर पीने लगी . इतने में एक लड़का अपना लण्ड खड़ा किये हुए मेरे सामने आया और बोला लो साईना इसे भी पियो . मैं सोफे पर बैठ गयी और उसे अपने सामने करके उसका लण्ड शराब के साथ पीने लगी . तब तक दूसरा लड़का बोला लो यार मेरा भी पियो लण्ड ? मैं उसका भी लण्ड पीने लगी . मैंने देखा की वहां कोई लण्ड चाट रही है, कोई लण्ड चूम रही है, कोई लण्ड चूस रही है, कोई लण्ड हिला रही है, कोई उसे अपनी चूंचियों पर फिरा रही है . लड़के भी बहन चोद लड़कियों के जिस्म का मज़ा ले रहे है . कोई चूंचियाँ मसल रहा है . कोई दबा रहा है कोई उन्हें चूस रहा है .कोई गांड पर हाथ फिरा है कोई चूत सहला रहा है . कोई चूत चाट रहा है . सब लोग मस्ती में आ गये है लड़का हो चाहे लड़की ? सबके ऊपर लण्ड चूत और शराब का नशा चढ़ा हुआ है .
यहाँ पर मैं बताना चाहूंगी की इस ग्रुप में कॉलेज के लड़के और लड़कियां ही है . यहाँ बहन चोद न कोई अंकल है और न कोई आंटी .
एक एक पैग शराब खतम हुई तो शुरू हो गयी चोदा चोदी . मैंने देखा की लड़कियां बुर कम चुदवा रही है , गांड ज्यादा मरवा रही है . एक बार बुर चुदवाती है तो दो बार गांड मरवाती है . इस देश में गांड मारने और गांड मरवाने का ज्यादा चलन है . यहाँ तक की बीवियों की अदला बदली में लोग एक दूसरे की बीवी की गांड मारते है . कॉलेज में तो आये दिन इस तरह के प्रोग्राम होते है जहाँ लड़कियां अपनी चूंचियाँ खोल देती है और लड़के अपना लण्ड ? कभी कभी तो लड़कियां क्लास रूम में ही लण्ड पकड़ लेती है . लड़के चूंचियों पर हाथ रख कर बैठे रहते है . टीचरें भी देखती रहती है और पढ़ाती रहती है . कई मेम तो लड़कों के पास आकर उनके लण्ड खुद ही पकड़ लेती है . टीचर जब कभी किसी लड़की के पास पढ़ाते पढ़ाते आता है तो वह लड़की टीचर की जिप में हाथ डाल कर लण्ड पकड़ लेती है . बड़ा आज़ादी का माहौल रहता है क्लास रूम में भी . आज मैंने अपने कॉलेज के लड़के और लड़कियों को बुलाकर सेक्स पार्टी कर रही हूँ .
इतने में मेरे सामने एक लड़का आ गया . उसका खड़ा लण्ड मुझे पसंद आया . मैंने उसे चित लिटा दिया और उसके लण्ड पे बैठ गयी . लण्ड मेरी गांड में घुस गया . मैं भी चित हो गयी और एक दूसरे लड़के को इशारा किया तो उसने अपना लण्ड मेरी बुर में घुसा दिया . अब मैं गांड मराने के साथ साथ बुर भी चुदवाने लगी . मेरे चारों तरफ हो रही थी भकाभक चुदाई . थोड़ी देर में कुतिया की तरफ बन गयी और गांड मरवाने लगी . सामने एक लड़के का लण्ड भी चूसने लगी . लण्ड पीते हुए गांड मरवाने में बड़ा मज़ा आता है .
मेरी मोम भी बहन चोद इसी तरह गांड मरवाती है .मेरी मोम गांड मरवाने की बड़ी शौक़ीन है . लेकिन वो गांड लण्ड पीते हुए मरवाती है . कभी लण्ड चाटते हुए कभी लण्ड चूसते हुए कभी लण्ड मुठियाते हुए गांड मराती है . आज मेरा प्लान उसी के साथ गांड मरवाने का था लेकिन मेरा इस पार्टी में आना जरुरी था इसलिए मैं मोम के साथ आज गांड नहीं मरा सकी . मेरी मोम अपना भोषड़ा भी इसी तरह चुदवाती है ? कम से कम दो लण्ड एक साथ जब उसके भोषडा में घुसते है तब उसे मज़ा आता है .
मैंने इस पार्टी में जी भर के चुदवाया और गांड भी मरवाई . यहाँ के लड़के गोर चिट्टे है . उनके लण्ड भी गोरे है, खूबसूरत है और ये लोग गांड मारने में मादर चोद एक्सपर्ट भी है . हां कुछ लड़के काले भी है . काले लण्ड का अपना अलग ही मज़ा होता है . मेरी मोम काले लण्ड से अपना भोषडा खूब चुदवाती है .
दूसरे दिन सुबह जब मैं घर आयी तो देखा की मेरी मोम गांड मराने में जुटी है . उसके बगल में उसकी एक दोस्त मिसेज हिलेरी भी गांड मराने में व्यस्त है . दोनों गांड मराने के साथ साथ एक एक लण्ड पी भी रही है . लण्ड पीने में दोनों इतनी मगन है की मेरी ओर देखा भी नहीं .
तब मैं बोली :- हाय मोम, लण्ड पीते हुए गांड मराने में ज्यादा मज़ा आता है न ?
वह बोली :- अरे साईना तू बहन चोद कब आ गयी . मैंने तो देखा ही नहीं ?
मैं बोली :- तुम कैसे देखती मुझे ? तुम तो लण्ड पीने में बिजी थी .
हिलेरी आंटी बोली :- वाओ, साईना तुम आ गयी गांड मरा कर ? कितने लोगों से मरवाया गांड तुमने ?
मैं बोली :- आंटी मैं गांड मराते समय लण्ड नहीं गिनती ? और न ही बुर चुद्वाते समय ? ये बात मुझे मेरी मोम ने ही बताया है ? उसने कहा की जब तक मज़ा आये तब तक चुदवाती रहो बुर और मरवाती रही गांड चाहे एक दर्जन लण्ड चोद कर चले जाएँ ? गांड मार कर चले जाएँ ?
आंटी बोली :- यार ठीक कहती है तेरी मोंम ? मेरी भी बेटी भोषड़ी वाली इसी तरह चुदवाती है .
एक दिन मैं सिमरन आंटी के घर जा रही थी . आंटी से मेरी मुलाक़ात एक सेक्स पार्टी में हुई थी . वह भी चुदवा रही थी और मैं भी . तब उसने बताया की मैं पंजाबी हूँ और अपने देश की हूँ लेकिन पिछले १० सालों से अमेरिका में रह रही हूँ . मुझे उसका चुदाने का स्टाइल पसंद आया और मैं भी उसी तरह चुदवाने लगी .
वह बोली साईना मुझे विदेश लण्ड बहुत पसंद है पर देशी लण्ड की बात ही और है ?
मैं बोली :- आंटी क्या फरक है दोनों में ? मैं तो हमेशा अमेरिका या फिर किसी और देश के लण्ड लण्ड से चुदवाती हूँ . मुझे अपने देश के लण्ड मिलते ही नहीं ?
वह बोली :- अरी साईन बहुत है लण्ड अपने दश के ? मैं दूँगी तुझे अपने देश के लण्ड और फरक क्या है मैं बताती हूँ . यहाँ के लण्ड गांड मारने में बहुत अच्छे है और देशी लण्ड भोषडा चोदने में ? लेकिन हां नीग्रो लण्ड, साऊथ अफ्रीकन लण्ड, मलेसियन लण्ड अरबी लण्ड इनसे भी भोषडा चुदवाने में मज़ा आता है .
मैंने आंटी की इस बात की गाँठ बाँध ली .
मैंने आंटी को फोन किया तो वह बोली देखो साईना तुम सीधे मेरे बेड रूम में चली आना . मैंने बाहर का दरवाजा खोल दिया है . मैं जब बेड रूम में घुसी तो मैं ख़ुशी के मारे उछल पड़ी . मैंने देखा की आंटी नंगी नंगी दो लण्ड बारी बारी से चूस रही है ? लण्ड दोनों ही बड़े मस्त थे और बड़े बड़े थे बहन चोद ? उसके बगल में एक लड़की भी नंगी नंगी दो लण्ड चूसने जुटी थी .
आंटी बोली :- अरे आओ यार साईना ? बड़े अच्छे मौके पे आयी हो . पहले कपडे खोल लो और फिर पकड़ो एक लण्ड ? देखो यहाँ चार लण्ड है . तुम सबका मज़ा लो .
मैंने पूंछा :- आंटी ये लड़की कौन है ?
वह बोली :- अरे हां मैं तो बताना ही भूल गयी . ये है प्रीती मेरी बेटी ? ये भी मादर चोद लण्ड की उतनी ही शौक़ीन है जितनी की मैं हूँ . फिर उसने कहा प्रीती ये है साईना मेरी दोस्त ?

प्रीती बोली :- ये मेरी बुर चोदी माँ बड़ी मस्त है चुदवाने में ? इसके भोषडा के हज़ारों दीवाने है . कोई न कोई इसे चोदता ही रहता है . अच्छा ये बताओ क्या तुम भी अपनी माँ चुदवाती हो जैसे मैं अपनी माँ चुदवाती हूँ .
मैंने कहा :- हां यार बिलकुल इसमें हर्ज़ ही क्या है ? जब मेरी माँ अपनी बेटी चुदवाती है तो मैं भी अपनी माँ चुदवाती हूँ . और मेरी माँ भोषड़ी वाली तेरी माँ से कम नहीं है .
सिमरन आंटी बोली :- हाय रब्बा, क्या तेरी माँ भी मेरी तरह है ?
मैं बोली :- हां आंटी ? वो मेरी चूत में लौड़ा घुसेड देती है . और मैं उसके भोषडा में लौड़ा पेल देती हूँ .
वह बोली :- वाओ, यही तो ग्रुप सेक्स का मज़ा है री . अब मेरी बेटी को देखो वो मेरा भोषडा चोदती है और मैं उसकी बुर चोदती हूँ . यार बड़ा मज़ा आता है .
मैंने कहा :- आंटी आज तुम मेरी बुर चोदो और प्रीती आज तुम मेरी गांड मारो .
आंटी ने एक आदमी को नीचे लिटा दिया और मुझे उसके ऊपर लिटा दिया . उसका लण्ड मेरी बुर में घुस गया . तब तक प्रीती आयी और उसने मेरी गांड में एक आदमी का लण्ड पेल दिया . मैं बुर चुदवाते हुए गांड मराने लगी .
इस तरह हम तीनो ने एक दूसरे की बुर चोदी और गांड मारी ?

=०=०=०=०=०=०=०=०=०=०=०समाप्त