फेयरवेल पार्टी में चुदाई

indian sex stories

हाय गाइस कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई कर रहे होंगे रोज के रोज भले ही आप सभी की कितनी ही गांड क्यूँ न मार रखी हो | मेरा नाम कुंती है और मैं हरामजिले की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं एक जवान लड़की हूँ और साथ में बहुत खूबसूरत भी हूँ | ऐसा मैं इसलिए कह रही हूँ क्यूँकि मुझे ऐसे कॉम्प्लीमेंट मिलते हैं | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा फिगर भी एक दम सेक्सी है | मैं इस साईट की रोजाना पाठक हूँ और मुझे इस साईट की सभी कहानियां बहुत अच्छी लगती है | मैं हर दिन कहानी पढ़ती हूँ तो सोचा कि आज क्यूँ मैं भी एक कहानी लिखू | तो गाइस आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी | अब मैं आप लोगो को ज्यादा बोर नहीं करुँगी और अपनी कहानी लिखना शुरू करती हूँ |

ये घटना तब की है जब मेरा स्कूल का फेयरवेल था | मेरे घर में मेरे पापा जो सरकारी नौकरी करते हैं और मेरी मम्मी हाउसवाइफ हैं | मैं घर में अकेली लड़की हूँ और मुझे बहुत लाड़ प्यार से मेरे मम्मी पापा ने पला है | इसी लाड़ प्यार में बरबाद हो गई | मैं जिस स्कूल में पढ़ती थी वहां मेरी क्लास में अधिकतर बच्चे बिगड़े हुए थे यहाँ तक की लड़कियाँ भी | अब मैं वहां बचपन से पढ़ी हूँ तो उनकी सांगत में मैं भी बिगड़ गई | लड़को के लंड के बारे में बात करना चुदाई के बारे में सोच सोचा कर अपनी चूत सहलाना और ब्लू फिल्म देखना ये सब मैं सीख चुकी थी और रोज रात में अपने कमरे में यही करती रहती थी लेकिन मैं पढाई में भी अच्छी ही थी | जब मैं रात में अपने कमरे में ब्लूफिल देख कर चूत सहलाती थी तो घरवालो को लगता था कि मैं पढाई कर रही हूँ इसलिए वो मुझे रात में डिस्टर्ब नहीं करते थे | मेरा एक बॉयफ्रेंड है जिसका नाम परवेश है और वो दिखने में गोरा है और काफी हेंडसम भी है | उसकी कदकाठी भी बहुत अच्छी है |

हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और ये प्यार स्कूल के समय से चला आ रहा है | वो मेरी ही क्लास में पढता था और एक दिन उसने मुझे प्रोपोस किया तो मैंने उसे हाँ कर दिया क्यूंकि मेरी क्लास में ज्यादातर लड़की के कोई न कोई बॉयफ्रेंड थे | जब हम 12वी में थे और सभी को पता था कि अब बोर्ड एग्जाम के बाद शायद ही हर किसी का मिलना हो पाए और स्कूल में हम सभी को फेयरवेल मिलने वाला था | उस दिन के लिए मैंने एक अच्छी सी साड़ी खरीदी थी | जब हमारे प्रोग्राम की पार्टी चल रही थी तब मुझे परवेश ने बुलाया और कहा कि अब तो एग्जाम होने वाला है तो क्यूँ न आज ही हम चुदाई कर ले | मैंने कहा यार यहाँ जगह थोड़ी है जो हम चुदाई कर सके | तो उसने कहा की तू बस मेरे साथ चल | जब मैं उसके साथ गई तो वो मुझे प्राइमरी सेक्शन में ले गया और जब हम वहां पंहुचे तो मैंने उससे कहा कि यार कोई दिक्कत न हो जाये वरना बुरे फंसेंगे | तो उसने कहा मेरी जान कुछ नहीं होगा और उसने मेरा हाँथ पकड़ा तो मेरे शरीर में एक सिहरन सी दौड़ गई | फिर उसने मेरा हाँथ पकड़ कर अपनी ओर खींच कर अपनी बांहों में भर लिया | मुझे भी अच्छा लग रहा था उसका ऐसा करना और मेरा दिल भी जोर जोर से धड़क रहा था |

उसके बाद उसने मेरे चेहरे की ठुड्डी पकड़ कर प्यार से उठाया और मेरे होंठ से अपने होंठ लगा कर मेरे होंठ के रस को चूसने लगा और मैं भी उसका कोई विरोध न करते हुए उसका साथ देने लगी और उसके होंठ के रस को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे मम्मों को भी मसल रहा था और मैं उसके होंठ के रस को चूसते हुए उसके बदन से खेल रही थी | हम दोनों ने लगभग 15 मिनट तक एक दूसरे के होंठ का रसपान किया | फिर मैंने उसके शर्ट के बटन को खोल दिया और उसके सीने के बाल को सहलाने लगी | फिर मैंने उसके जीन्स को भी उतार दिया और उसे सिर्फ अंडरवियर पर कर के उसके लंड को ऊपर से ही सहलाने लगी | फिर मैंने उसकी अंडरवियर को भी उतार कर उसे नंगा कर दी | मैंने उसके लोहे जैसे लंड को अपने हाँथ में लिया और हिलाने लगी | फिर मैंने उसके लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा |

मैं उसके लंड को चारो तरफ से चाट रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बोबे को सहला रहा था | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर उसके सुपाड़े को चोसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | फिर मैंने उसके लंड को पूरा अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह में अपना लंड पेलने लगा | मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर मैंने उसके दोनों गोटों को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और लंड को ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को संवार रहा था |

उसके बाद उसने मेरी साड़ी के पल्लू को नीचे कर दिया और मेरे ब्लाउज के हुक खोलने लगा और फिर मुझे ब्रा में कर के मेरे मम्मो को मसलने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां लेने लगी | फिर उसने मेरे मम्मों को ब्रा के कैद से आजाद कर दिया और मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके बालो को सहलाने लगी | उसके बाद उसने मेरी साड़ी को पूरा उतार दिया और फिर पेटीकोट को भी | उसके बाद उसने मेरी पेंटी को भी उतार दिया और मुझे नंगी कर दिया | फिर उसने मुझे वहीँ पर लेटा दिया और मेरी पैरो को फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कसमसाने लगी |

वो मेरी चूत को चाट चाट कर गीला कर रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबा रही थी | उसके बाद वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे चूत के दाने को भी चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह में ही एक बार झड़ गई | फिर उसने मेरी चूत में अपने लंड को डाल दिया और चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | कुछ देर बाद उसने अपनी चुदाई तेज कर के जोर जोर से मेरी चूत को चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | उसके बाद उसने मुझे साइड में कर दिया और मेरी चूत को साइड से जोर जोर से चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने दूध को दबाने लगी | कुछ देर की चुदाई के बाद उसने अपना वीर्य मेरे ऊपर ही झड़ा दिया | उसके बाद हम दोनों अपने आप को ठीक किया और फिर पार्टी में चले गए |