कॉलेज में चुदाई का पहला सपना हुआ पूरा

College me chudai ka pahla sapna hua poora:

मेरे सभी प्यारे भाइयों और लेडीस एंड सेक्सी आंटीज़ | मेरा नाम अंकुश है | मेरा गठीला शरीर है और में M.B.A. स्टूडेंट हूँ | ये मेरी पहली और एक दम सच्ची घटना है जो में अभी आपको बताने जा रहा हूँ | अगर इसमे आपको कोई ग़लती समझ में आती है तो मुझे माफ़ करना |

loading...

ये बात तब की है जब में 12 क्लास में था | रिज़ल्ट में मैं पास हो गया था और मैं कलाज में एडमिशन के लिए घूम रहा था | तभी मैं अपने स्कूल गया पासिंग सर्टिफिकेट लेने | तभी मेरी मुलाकात वहाँ एक न्यू लेडी टीचर से हुई और उसका नाम था प्रियंका | वो बहुत सुंदर शादीशुदा महिला थी और उसका सेक्सी फिगर 36-24-36 था | उसका बदन एक दम भरा हुआ था और उसकी एक दम गोल गांड देख के मेरा लंड खड़ा हो गया था | फिर उनसे मेरी बातें शुरू हुई और यहाँ वहाँ की बाते होने लगी | फिर मैं घर चला गया और फिर धीरे धीरे फोन में बात होना स्टार्ट हुई नॉर्मली बात करते करते कब हम सेक्सी बातें करना स्टार्ट कर दिए पता ही न चला | एक दिन उसने मुझे मूवी चलने को कहा | हम वहाँ गये तो पर बात करते रहे और मूवी नहीं देखी ज़्यादा बस यहाँ वहाँ की बात करते रहे उसके बाद उसने अपनी सेक्स स्टोरी बताई की उसके पति अनिल ने उसके साथ सेक्स नही करता है और उसको टाइम नही देता| तब मैने मुझको प्रपोज़ किया और वहीं पे उसके दूध दबाने लगा| मुझे पता था की वो बहुत ही चुदसी औरत थी तो वो जल्दी गरम हो गयी | हमने एक दम लास्ट कॉर्नर की सीट लिए थे ओर वहाँ भीड़ भी नही थी| फिर वो मेरे लंड को उपर से सहला रही थी और मैं उसके दूध दबारा था | माहौल एक दम गरम हो गया था उसके बाद मैं उसकी साड़ी किनारे करके ब्लाउस के अंदर हाथ डाल के दूध अंदर से दबाने लगा और वो और गरम हो गई | उसके बाद उसने अपना हाथ मेरे जीन्स के अंदर डाल के मेरे लंड को हाथ में लेके हिला रही थी | मैंने अपना जीन्स नीचे किया वो डर गयी मेरा लंड देख के | मेरा लंड 7 इंच लंबा है और 3 इंच मोटा है | फिर वो मेरा लंड चूसने लगी ओर वहाँ मैने उसकी साड़ी उपर करके उसकी चूत सहलाने लगा | उसके बाद वो मेरी गोद में आके बैठने को हुई उसकी चूत टाइट होने के कारण मेरा मोटा लंड अंदर घुस नही पाया | बस हम वहाँ उतना ही कर पाए| फिर एक दिन उसके घर मे कोई नही था, मैं उससे मिलने  गया | फिर उसने मुझे पानी पिलाई और मेरे लंड को पकड़ के बोली की इसे आज़ाद करो.. मैं तुरंत नंगा हो गया और उसने मेरा लंड हाथ में लेकर बहुत प्यार से बोली की तुम्हारा लंड बहुत सुंदर है और मुँह में लेने लगी | फिर वो नंगी हुई और उसके दूध देख के मैं पागल हो गया | उसके दूध बहुत गोरे और बहुत बड़े थे | मैं लपक के उसके दूध चूसने लगा और वो मदहोश होने लगी | उसकी चूत एक दम चिकनी थी और बिल्‍कुल पिंक थी | मैं उसके पीछे जा क खड़ा हो गया ओर अपना लंड उसकी गांड मे घुसने लगा और कंधे को चूमने लगा और आगे हाथ करके उसके दूध दबाने लगा | फिर हम आमने सामने आए और जोरदार लीप किस करने लगे जीभ से जीभ टकराने लगी और मुँह की लार आपस मे घुलने लगी | फिर मैं उसको लेटा के उसके दूध चूसने लगा और निप्पल को जीभ से गोल गोल घुमाने लगा | उसकी चूत मे उंगली डाल के सहला रहा था कि तभी उसने कहा की मैं उसकी चूत चांटू | मैने भी देर नही करी और शहद लगा के उसकी चूत चाटने लगा अंदर और बाहर | वो बहुत गरम हो गई उसके बाद उसकी चूत को उपर से चाटने लगा और दूध दबाते जा रहा था | उसकी चूत की सुगंध और टेस्ट एक दम मीठा था मैं भी पागल हो गया और उसकी चूत को अंदर से और बाहर से चाट रहा था | चूत के दाने को होंठों से पकड़ के खीच रहा था | उसके बाद मैं लेटा और उसने मेरे लंड मे शहद लगाया और हिलाने लगी gaa| फिर वो लंड को मुँह में ले के चूसने लगी | उसका मुँह मेरे लंड से भर गया था| पहले वो मेरे लंड को अच्छे से हर तरफ से चाट रही थी और फिर लंड को टोपा चूसने लगी | आधे घंटे तक वो मेरे लंड को चुस्ती रही | मैने पूछा उससे की कैसा लगा मेरा लंड, तो उसने कहा बहुत सुंदर लंड है तुम्हारा मैं तो दीवानी हो गई हूँ तुम्हारे लंड की | मेरे पति का लंड बहुत ही छोटा और पतला है इसी वजह से वो मुझे सेक्स में संतुष्ट नही कर पाते | तब मैने उसे कहा कि अब मैं हूँ तो तुम्हें किसी और लंड की ज़रूरत नही पड़ेगी और वो मेरे लंड को किस करते हुए चूसने लगी | फिर मैं उसको लेटा के उसकी टांगे चौड़ी करके अपना लंड रगड़ने लगा तो उसने कहा की प्लीज़ अब देर मत करो और चोदो मुझे | मैने जेसे ही अपना लंड उसकी चूत में डाला तो उसकी आह निकलने लगी और वो लंड बाहर निकलने को बोलने लगी | मैने अपना लंड निकाला और उसका कंधा पकड़ के जोरदार शॉट मारा वो ज़ोर से चिल्लाने लगी और उसके आँख मे आँसू आने लगे | वो आह…अया…आह करने लगी थोड़ी देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा और वो मेरा साथ दने लगी और कहने लगी की और चोदो ज़ोर से चोदो| मैने भी देर नही की ज़ोर ज़ोर से शॉट लगाने लगा फिर वो ज़्यादा गरमा गयी और कहने लगीं जल्दी चोद ना कुत्ते बस इतना ही दम है | ..अया आहा आहा आहा ..चोद डाल आज मेरी चूत को भोसड़ा बना दे आज मेरी चूत का …अयाया हहा आआहा आहा आ.. मादरचोद चोद ना फाड़ दे मेरी चूत…आ आहा आहा…मैं बोला मादरचोद बहुत शौक था चुदने का अब देख मेरे लंड का कमाल | फिर मैं उसे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा| फिर मैने उसकी टाँग उठा के अपने कंधे पे रखा और ज़ोर से लंड का झटका मारा | वो रोने लगी और कहने लगी मादरचोद मार डालेगा क्या अब तो मैं तेरी जान हुँ..आराम से चोद आ आ आहा आहा..बड़ा मज़ा रहा है तेरे से चुदवाने में | आज तक ऐसा लंड नही मिला मुझे जो इतना मज़ा दे सके मुझको | जान आई लव यू.. चोद जितना चोदना है.. आज मैं जी भर के चुदुन्गी तुझसे बड़ा आनंद आ रहा है.. मैं सातवे आसमान में उड़ रही हूँ.. | मैने भी कहा कि जानेमन अब तो तू देख तेरे को जन्नत की सैर करता हूँ | अब मैने उसको बोला चल मेरी रंडी अब तू कुतिया बन जा तेरी चूत पीछे से मारूँगा | वो भी जल्दी से कुतिया बन गयी और टांगे फैला ली | उसके बाद मेरा लंड चूसने लगी और कहने लगी मैं बहुत किस्मत वाली हूँ जो मुझे ऐसा लंड मिला आज और बदकिस्मत भी की मैं शादीशुदा हूँ | इतना कह के लंड चूसने लगी मैं उसके पीछे आके उसके बाल खींचे और लंड पेल दिया | पूरे कमरे में फ़च फ़च की आवाज़े आने लगी और उसी बीच वो दो बार झड़ चुकी थी और मैंने एक बार भी नहीं झाड़ा था | मैं फिर से उसे चोदने लगा कम से कम एक घंटे की चुदाई के बाद मेरा उसकी चूत में झड़ गया और फिर लेट गए | मैं उसके बाजू में लेट गया और किस करने लगा | थोड़ी देर बाद फिर से मेरा लंड तन गया और फिर चुदाई करने लगा | उस दिन मैनें चार बार चुदाई की | वो मुझे प्यार करने लगी और धीरे धीरे वो मेरी पत्नी बनने लगी और अपने पति को तलाक़ दे दी | मैनें भी माना नही किया और अलग से घर ले के रहने लगे पर मैं जवान था | मुझमें हवस भरने लगी और मैं प्रियंका से बोर होने लगा था | तब एक दिन मुझसे गांड मरने से मना कर दिया | तो मैने एक रात खूब दारू पिली और उस रात हमारा झगड़ा भी हुआ फिर मैनें उसको मानने की लिए रात मे सोते वक़्त उसका गाउन उतारकर उसकी गांड चाटने लगा सबसे पहले वो कुछ नहीं बोली जबकि मुझे पता चल गया ता की वो सो नही रही है सोने का नाटक कर रही है | उसके बाद मैं उसकी गांड मसलने लगा वो समझ चुकी थी की आज मेरी गांड चुदने वाली है | जैसे ही मैनें अपना लंड उसकी गांड मे घुसाया वो उछल गयी और गांड मे उसकी बहुत दर्द होने लगा | फिर दर्द कम होने क बाद मैनें कहा की आज मैं तेरी गांड मार के ही रहूँगा फिर मैने उसको घोड़ी बनाया और आराम आराम से पकड़ के उसकी गांड में अपना 7 इंच लंड पूरा डाल दिया और उसकी गांड मरने लगा फिर उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी | आज तीन साल हो गये है साथ रहते रहते और हम एक दिन में 4-5 बार चुदाई करते है हुमारे बच्चे नहीं है और हम खुशी से रहते हैं | मैं आपको अगली कहानी में बताऊँगा की उसके साथ रहते हुए भी मैने बहुत चुतो को चोदा और बहुत गांड मारी | कुछ औरतें जो की उसकी दोस्त थी कैसे उनको बजाया और कैसे मेरी लाइफ चेंज हुई अब मैं एक प्लेबॉय बन गया हूँ ये बात उसे पता नही है | शुक्रिया मेरी स्टोरी पढ़ने के लिए|