चुदाई का वह मजा जिसने लंड मे हलचल पैदा कर दी

Antarvasna, hindi sex story: मेरे और मेरी पत्नी के बीच रिलेशन बिल्कुल भी ठीक नहीं चल रहा था इसलिए हम दोनों ने अलग होने का फैसला कर लिया था। मेरा और मेरी अपनी पत्नी का डिवोर्स हो चुका था और अपनी पत्नी को डिवोर्स देने के बाद मैंने भी अब सोचा कि क्यों ना मैं दूसरी शादी कर लूँ लेकिन दूसरी शादी करना मेरे लिए इतना आसान भी नहीं था। जब मैं कावेरी से मिला तो कावेरी और मेरी जिंदगी में काफी समानता थी कावेरी का डिवोर्स भी अभी कुछ समय ही हुआ था। कावेरी से मैं जब पहली बार अपने दोस्त के माध्यम से मिला तो मुझे कावेरी से मिलकर बहुत ही अच्छा लगा उसके बाद से हम दोनों की बात अक्सर होने लगी थी। हम दोनों की बातें अब इतनी ज्यादा होने लगी थी कि हम दोनों की जिंदगी में काफी नजदीकियां चुकी थी। कावेरी के मेरी जिंदगी में आने से मेरी लाइफ में काफी बदलाव भी आने लगा था क्योंकि यह सब कावेरी की वजह से ही तो हुआ था। कावेरी मुझे बहुत ही अच्छे से समझती और वह जब भी मुझसे बात किया करती तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता मुझे ऐसा लगता कि जैसे मेरी सारी परेशानियां पल भर में दूर हो गयी हो।

एक दिन मैं बहुत ही ज्यादा परेशान था उस दिन कावेरी का मुझे फोन आया और वह कहने लगी कि अमित मुझे तुमसे मिलना था। मैंने कावेरी से कहा की ठीक है मैं तुमसे मिलता हूं और उस दिन हम दोनों एक दूसरे से मिले। जब मैं कावेरी को मिला तो मुझे उससे मिलकर बहुत ही अच्छा लगा और मेरी परेशानी जैसे पल भर में ही दूर हो गई थी। कावेरी मुझसे कहने लगी कि मैं चाहती हूं कि मैं अपने करियर पर पूरी तरीके से फोकस करूँ इसलिए वह एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करने लगी। वहां पर उसने जॉब तो कर ली लेकिन अब हम दोनों की मुलाकात काफी कम होने लगी थी। जब कावेरी ने मुझे बताया कि वह बेंगलुरु जा रही है तो मैं काफी उदास हो गया मैंने कावेरी से कहा कि कावेरी तुम तो जानती हो कि मैं तुम्हारे बिना एक पल भी नहीं रह पाऊंगा। मैंने कावेरी से कहा कि हम दोनों को शादी कर लेनी चाहिए और हम दोनों को एक हो जाना चाहिए। कावेरी मुझे कहने लगी कि अमित मुझे कुछ समय चाहिए और मैं चाहती हूं कि पहले मैं अपने करियर को अच्छे से संभाल लूं उसके बाद ही मैं इस बारे में सोचूंगी। मैं इस बात से बड़ा परेशान था कि अब कावेरी बेंगलुरु चली जाएगी।

कुछ ही समय बाद कावेरी बेंगलुरु चली गई और मैं अकेला हो चुका था, मुझे अकेला महसूस होता तो मैं कावेरी से फोन पर बात कर लिया करता था। हम दोनों फोन पर एक दूसरे से काफी बातें करते थे लेकिन फिर भी मुझे लगता कि कावेरी अगर मेरे साथ होती तो ज्यादा अच्छा रहता लेकिन कावेरी मुझसे बहुत दूर थी और हम दोनों की जिंदगी अब काफी ज्यादा बदल भी चुकी थी। मैं कावेरी को खोना नहीं चाहता था इसलिए मैंने सोचा कि क्यों ना मैं भी बेंगलुरु चला जाऊं, मैंने बेंगलुरु में ही जॉब करने के बारे में सोच लिया था और फिर मैं बेंगलुरु चला गया। मैंने बेंगलुरु की एक कंपनी में जॉब कर ली और कावेरी को भी मैं हर रोज मिलने लगा था मैं चाहता था कि हम दोनों एक साथ रहे और जल्द से हम दोनों शादी कर ले लेकिन कावेरी को थोड़ा समय चाहिए था। मुझे नहीं पता था कि कावेरी आखिर क्यों मुझसे शादी करने के लिए तैयार नहीं है लेकिन मैंने भी कावेरी की बात का सम्मान किया। हम दोनों एक दूसरे से अक्सर मिला करते थे और आखिर में मैंने कावेरी को मना ही लिया और वह मुझसे शादी करने के लिए तैयार हो गयी। कावेरी मुझसे शादी करने के लिए तैयार हो चुकी थी और कुछ ही समय बाद हम दोनों ने शादी कर ली। जब हम दोनों ने शादी की तो मैंने अपने दोस्तों को भी शादी में बुलाया था और अपने रिलेटिव्स को भी बुलाया था सब लोग मेरी शादी में आए हुए थे। हम दोनों की शादी बड़े ही धूमधाम से हुई और अब हम दोनों पति-पत्नी बन चुके थे हम लोग बेंगलुरु में ही जॉब कर रहे थे और साथ में ही ज्यादातर समय हम दोनों बिताने के बारे में सोचते। जब भी हम दोनों को समय मिलता तो हम दोनों शॉपिंग के लिए चले जाया करते या फिर हम लोग घूमने के लिए चले जाते।

एक दिन मैं घर पर ही था उस दिन मेरी और कावेरी दोनों की छुट्टी थी तो कावेरी ने मुझे कहा कि मैं अपनी सहेली से मिलने के लिए जा रही हूं। मैंने कावेरी को कहा कि तुम वहां से कब तक वापस लौट आओगी तो कावेरी मुझे कहने लगी कि मैं वहां से जल्द ही वापस लौट आऊंगी। मैंने कावेरी को कहा कि ठीक है मैं आज घर पर ही हूं और मैं उस दिन घर पर ही कावेरी का इंतजार कर रहा था। कावेरी को आने में काफी देर हो गई थी इसलिए मैंने उस दिन कावेरी से कहा कि क्यों ना आज हम लोग डिनर के लिए बाहर जाएं। कावेरी ने भी कहा ठीक है और उस दिन हम दोनों डिनर के लिए बाहर चले गए। हम दोनों साथ में बैठे हुए थे मैं कावेरी से बात कर रहा था मैंने कावेरी को कहा कि जब से तुम मेरी जिंदगी में आई हो तब से मेरी जिंदगी पूरी तरीके से बदल चुकी है और मैं तुम्हारे साथ रिलेशन में बहुत खुश हूं। कावेरी यह बात अच्छे से जानती थी कि मेरी अहमियत उसकी जिंदगी में क्या है इसलिए कावेरी ने भी मेरा हाथ पकड़ते हुए मुझे कहा कि अमित मुझे पता है अगर तुम भी मेरा साथ नहीं देते तो शायद मैं भी काफी अकेला महसूस करती लेकिन अब हम दोनों एक हो चुके हैं, हम दोनों अपनी शादीशुदा जिंदगी को अच्छे से गुजार रहे हैं और मैं इस बात से बड़ी खुश हूं। हम दोनों उस दिन डिनर करने के बाद घर वापस लौट आए और आते वक्त रात भी बहुत हो चुकी थी।

कावेरी और मैं डिनर करके घर वापस लौटे। जब हम दोनों घर वापस लौटे तो उस दिन कावेरी कपड़े चेंज कर रही थी। वह मेरे सामने ही कपड़े बदल रही थी मैंने कावेरी के नंगे बदन को देखा तो मेरे अंदर से भी सेक्स की भावना जागने लगी। मैंने कावेरी से कहा मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूं? कावेरी मुझे कहने लगी मैं बहुत ज्यादा थक चुकी हूं। मैंने कावेरी को कस कर पकड़ लिया मेरा लंड तन कर खडा होने लगा था। कावेरी अपने अंतर्वस्त्रों में ही खड़ी थी इसलिए मेरे अंदर की उत्तेजना और भी ज्यादा बढ़ने लगी थी। मैं समझ चुका था मुझे कावेरी की चूत मे ही अपने लंड को डालकर शांति मिलेगी इसलिए मैंने भी अपने लंड को बाहर निकाला तो कावेरी मुझे कहने लगी अमित आज मेरा बिल्कुल भी मन नहीं है मुझे बहुत थकान महसूस हो रही है। मैंने कावेरी से कहा तुम मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसा। वह मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर उसको सकिंग करने लगी कावेरी को मज़ा आने लगा था और मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आने लगा क्योंकि मेरे अंदर की गर्मी अब बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी। कावेरी ने जिस प्रकार से मेरे मोटे लंड को चूसा उसने मेरे लंड से पानी बाहर निकाल दिया था। मुझे मजा आने लगा था और बहुत ज्यादा आनंद आने लगा कावेरी को भी इतना ज्यादा मजा आने लगा था कि उसने मुझे कहा अब मैं अपने पैरो को खोलकर लेट रही हूं तुम मेरी चूत मार लो। मैंने उसे कहा तुम अपनी पैंटी को उतार दो कावेरी ने अपनी पैंटी को उतार दिया था। मैंने जब उसकी चूत को चाटना शुरू किया तो वह मुझे अपने पैरों के बीच में जकड़ने लगी कावेरी को मजा आने लगा था और मुझे भी बहुत मजा आने लगा था। मेरे और कावेरी के अंदर की गर्मी बढ़ने लगी थी। हम दोनों बिल्कुल भी रह नहीं पा रहे थे मैंने कावेरी से कहा क्यों ना हम लोग एक दूसरे के साथ अब सेक्स का मजा ले। कावेरी कहने लगी क्यों नहीं मैंने कावेरी की चूत पर अपने लंड को लगाया और उसके स्तनों को दबाने लगा। कावेरी की चूत को मैंने पूरी तरीके से गर्म कर दिया था। मैंने जैसे ही उसकी योनि के अंदर अपने लंड को धक्का देकर घुसाया तो वह बहुत जोर से चिल्ला कर मुझे बोली आज तो मुझे मजा ही आ गया।

कावेरी को बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था और मुझे भी बहुत मजा आ रहा था। उसने अपने पैरों को खोला हुआ था वह मुझे कहने लगी मुझे और तेजी से चोदो। मैने कावेरी को बड़ी तेज गति से धक्के मारने शुरू कर दिए थे। कावेरी का बदन पूरी तरीके से गर्म होने लगा था वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैने कावेरी के पैरों को आपस में मिला लिया था जिससे उसके अंदर की गर्मी लगातार बढ़ती जा रही थी और मुझे कावेरी की टाइट चूत मारने में भी मजा आ रहा था। मैं जब कावेरी की चूत का मजा ले रहा था तो उसके अंदर की गर्मी लगातार बढ़ती जा रही थी और मेरे अंदर की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी। मैं समझ चुका था वह नहीं रह पाएगी इसलिए मैंने कावेरी की योनि के अंदर अपने वीर्य को गिराकर उसकी चूत की खुजली को मिटा दिया।

उसके बाद वह मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी ऐसा करने पर मेरा लंड दोबारा से मोटा होने लगा था और मेरा लंड दोबारा से खड़ा हो गया। मेरे लंड ने पानी बाहर की तरफ छोड़ना शुरू कर दिया था अब मैंने उसे दोबारा से चोदना शुरू किया। जब मैंने कावेरी को धक्के मारने शुरु किया तो कावेरी मुझे कहने लगी मुझे ऐसे ही चोदते जाओ। मैंने उसे घोडी बना दिया घोडी बनाने के बाद मै उसे चोद रहा था तो उसकी चूतडो से एक अलग प्रकार की आवाज निकल रही थी वह मुझे बहुत ज्यादा गर्म कर रही थी। उसने मेरी गर्मी को पूरी तरीके से बढा दिया था और मैने अपनी वीर्य की पिचकारी से अपनी और कावेरी की शांत गर्मी को शांत कर दिया था कावेरी बहुत खुशी थी। कावेरी और मैंने एक दूसरे के साथ जमकर सेक्स का मजा लिया। उसके बाद हम एक दूसरे की बाहों में आराम से सो गए मुझे बहुत ही ज्यादा गहरी नींद आ गई थी और कावेरी भी मेरी बांहो मे सो चुकी थी।