चार लोड़ो के साथ गैंगबैंग

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रोमा है. मेरी उम्र 20 साल है और में गुजरात की रहने वाली हूँ. आज में आप सबको मेरी गैंगबैंग की एक स्टोरी बताने जा रही हूँ, मेरी यह स्टोरी बिल्कुल सच्ची है, जिसमें 4 लड़को ने मेरे साथ गैंगबैंग किया है. अब में आपको अपने बारे में बता देती हूँ, मेरी उम्र 20 साल है और में गुजरात की रहने वाली हूँ. में बी.कॉम कर रही हूँ और मेरा फिगर साईज 36-29-38 है और में गोरी हूँ. में ज्यादातर जीन्स और टी-शर्ट या सलवार कमीज़ पहनती हूँ.

एक दिन में अपने कॉलेज से जल्दी दोपहर को वापस आ रही थी तो उतने में एक मारुति वैन मेरे पास आकर रुकी. फिर उसका दरवाजा खुला और 2 लड़को ने मुझे ज़बरदस्ती से खींचकर अंदर ले लिया. अब यह सब इतना अचानक हुआ था कि में चिल्ला भी नहीं पाई, उस वैन में अंदर मेरा एक क्लासमेट भी था, अब में बहुत घबरा गई थी.

फिर उसने मुझसे कहा कि डरो मत उसका नाम अजय था. फिर उसने मेरा दूसरो लड़को से परिचय करवाया, उनका नाम राहुल, राज और अमर था, वो सब हट्टे कट्टे थे. फिर उसमें से राज बोला कि आज तो हम तेरा खूब मज़ा लेंगे. फिर में रोने जैसी सूरत बनाकर बोली कि मुझे जाने दो तो राहुल ने मुझे एक थप्पड़ मार दिया. अब में और घबरा गई थी, अब राज मेरे राईट साईड बैठा था और राहुल लेफ्ट साईड में बैठा था और अमर मेरे सामने बैठा था और अजय वैन ड्राइव कर रहा था.

फिर राज ने मेरे सीधे बूब्स को बाहर से दबाते हुए बोला कि वाह क्या सॉफ्ट स्पंज जैसे बड़े-बड़े बूब्स है? तो राहुल बोला कि चलो में भी तो देखूं और फिर वो दोनों मिलकर मेरे बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगे. अब में इतनी ज्यादा डर गई थी कि कुछ नहीं कर पाई. फिर मैंने उन्हें अपने हाथों से दूर करना चाहा तो राहुल ने मुझे फिर से थप्पड़ मार दिया.

अब गाड़ी सुनसान रास्ते पर जा रही थी और अब अमर मेरी जांघो को मसल रहा था. फिर गाड़ी एक फार्महाउस पर रुकी और फिर उन्होंने मुझे उठाकर अंदर ले जाकर सीधा स्विमिंग पूल में डाल दिया, वो बहुत सुनसान इलाक़ा था. फिर वो सब एक-एक करके नंगे हो गये और उन सबके लंड बहुत लंबे और मोटे थे.

अब में बहुत घबरा चुकी थी, फिर वो सब पूल में कूद गये और अब में पूरी भीग चुकी थी और अब वो सब मेरी बॉडी को हर जगह से दबा रहे थे. फिर अजय मेरे पीछे गया और अपने लंड को मेरी गांड से सटाकर रगड़ने लगा. फिर राज और राहुल ने मेरे दोनों हाथ ऊपर किए और अजय ने मेरा सलवार निकाल दिया और फिर अमर ने पूल में अंदर जाकर मेरा कमीज़ भी निकाल दिया. अब में बोलती रही कि प्लीज़ मुझे जाने दो प्लीज़, लेकिन में एक थी और वो 4 थे, जिससे में कुछ नहीं कर पाई.

अब वो सब बोल रहे थे कि वाह क्या बूब्स है? क्या गांड है? फिर अमर ने अचानक से पूल में अंदर जाकर मेरी पेंटी भी निकाल दी और अजय ने मेरी ब्रा निकाल दी. अब में उन चारों के सामने नंगी पूल में थी. अब वो सब अपने अपने लंड को मेरे शरीर पर यहाँ वहाँ रगड़ रहे थे, कभी गांड पर तो कभी चूत पर.

फिर उन्होंने मुझे बाहर उल्टा लेटा दिया और फिर अजय ने मेरे दोनों हाथों को पकड़ा और राज ने मेरी दोनों टांगो को पकड़ा और ऐसे करके उन्होंने मुझे अपने कंधो पर उठा दिया और राज अपने हाथ मेरी गांड पर रखकर दबाने लगा और राहुल मेरे झूलते हुए बूब्स से खेलने लगा और उन्हें दबाने लगा था. अब अमर मेरी चूत में उँगलियाँ करने लगा था. अब मुझे ठंड लग रही थी और थोड़ा-थोड़ा सेक्स का नशा भी हो रहा था, लेकिन में बहुत डरी हुई थी. फिर वो इसी तरह से मुझे अंदर ले गये और पलंग पर लेटा दिया.

फिर अजय टावल लेकर आया और बोला कि आजा रोमा में तुझे पोछ दूँ और ऐसा कहकर वो मेरी जांघो पर बैठ गया. अब उसका लंड मेरी चूत से रगड़ने लगा था, अब वो मुझे ऊपर से नीचे तक दबाते हुए पोंछने लगा था.

फिर उतने में राज, अमर और राहुल आए और अब वो चारो मेरी बॉडी को दबाते हुए खेलने लग गये थे, अब में कुछ नहीं कर पा रही थी. फिर राहुल मेरी सीधी साईड में और राज मेरी जांघो पर और अजय मेरी लेफ्ट साईड में और अमर मेरे पेट पर बैठ गया था. फिर राज मेरी चूत को किस करने लगा और चूसने लगा था. अब राहुल राईट साईड से अपने लंड से मेरे राईट बूब्स को और अजय लेफ्ट साईड से अपने लंड को मेरे लेफ्ट बूब्स पर रखकर अपने लंड से दबा रहे थे. अब अमर अपने लंड को मेरे दोनों बूब्स के बीच में रगड़ने लगा था.

फिर अजय उठकर लेट गया और उन तीनों ने मुझे उठाकर अजय के ऊपर लेटा दिया. अब अजय का लंड मेरी गांड में फिट हो गया था, वो बहुत हॉट था. अब वो अपने लंड को मेरी गांड के बीच में रगड़ने लगा था. फिर राज भी मेरे ऊपर चढ़ गया और मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने लग गया था. अब राहुल और अमर मेरे बूब्स को अपने मुँह में लेकर दबा-दबाकर चूसने लगे थे, अब में हर तरफ से यूज़ हो रही थी.

फिर राज ने अजय से कहा कि चल अब इसे चोदेंगे. फिर उन्होंने मुझे डॉगी स्टाइल में बैठा दिया और अजय ने फिर से अपना लंड मेरी गांड के छेद में घुसाना स्टार्ट किया. फिर उसने जैसे ही एक झटका लगाया तो में ज़ोर से चिल्ला उठी आाआईईईईईईईईईईई.

फिर उसी समय राहुल ने अपना 8 इंच का पूरा लंड मेरे मुँह में घुसा दिया और मुझे थप्पड़ मारकर बोला कि चूस इसे और फिर वो अपने लंड को मेरे मुँह में अंदर बाहर करने लगा. फिर उधर अजय ने और एक झटका लगाया तो उसका आधा लंड मेरी गांड में घुस गया. अब मुझे बहुत दर्द होने लगा था और अब आगे से राहुल झटके दे रहा था और पीछे से अजय ने लगभग अपना पूरा लंड मेरी गांड में घुसा दिया था.

अब मेरी गांड पर उसका पेट टकराने लगा था और अब उसके बॉल्स मेरी चूत पर टकरा रहे थे. अब अमर मेरे नीचे था और मेरे बूब्स को बराबर दबा रहा था. फिर अजय मुझे अपने साथ लेकर सो गया, अब उसका लंड अभी भी मेरी गांड में फंसा था. फिर राज भी मेरे ऊपर चढ़ गयाऔर अब में राज और अजय के बीच में दब गई थी, अब मेरी तो आवाज़ ही बंद हो गई थी.

अब अजय मेरी गांड में अपना लंड अंदर बाहर कर रहा था और राज ने भी अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया था और फिर अचानक से ही उसने थोड़ा धक्का लगाकर अपना थोड़ा लंड मेरी चूत में घुसा दिया. अब में बहुत जोर से चीख पड़ी थी और अब अमर मेरे बूब्स पर बैठ गया और अपना लंड मेरे मुँह में चुसवाने के लिए डाल दिया था. अब वो मेरे बूब्स पर बैठकर ऊपर नीचे होने लगा था, अब मेरे बूब्स बुरी तरह से दब रहे थे. अब राज ने झटके दे देकर मेरी चूत में अपना आधा लंड घुसा दिया था और उधर अजय तो लगातार सांड की तरह चालू था.

अब उतने में राहुल भी ज़बरदस्ती से अपना लंड मेरे मुँह में घुसा रहा था. अब में चारों तरफ से भर चुकी थी और अब राज मेरी चूत में, अजय मेरी गांड में, राहुल और अमर मेरे मुँह में अपना लंड डाले हुए थे. फिर राहुल और अमर ने राज और अजय से कहा कि अब हम भी अपने हाथ मारेंगे, तो राज ने अपना लंड मेरी चूत में से झटके से बाहर निकाल दिया और खड़ा हो गया.

अब मेरी चूत और गांड दोनों गीले हो चुके थे. फिर अजय ने मुझे अपने लंड पर बैठाया और खड़ा करके अपना लंड बाहर निकाला और फिर राहुल वापस से सो गया. फिर अमर ने मुझे कसकर पकड़ा और राहुल के खड़े लंड में मेरी गांड का छेद सेट कर दिया और मुझे छोड़ दिया तो अजय का पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया. फिर अजय ने मेरे बूब्स पीछे से पकड़े और मुझे उस पर लेटा दिया. अब राहुल मेरी जांघो पर बैठकर अपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा था और अपने लंड को गर्म करने लगा था.

फिर जब उसका लंड खड़ा हो गया तो उसने भी एक झटके में अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया. अब मेरी चूत और गांड की हालत खराब हो गई थी. फिर राहुल और अजय ने अपने धक्के शुरू कर दिये और इधर राज और अजय मेरे बूब्स से अपने लंड को स्वाद चखा रहे थे. फिर यह सब कुछ 1 घंटे तक चला. अब में भी आनंद लेने लगी थी और उनका रेस्पॉन्स देने लगी थी.

अब वो लोग भी थक चुके थे और में तो टूट ही गई थी. फिर वो सब उठे और उन्होंने मुझे वापस से पूल में ले जाकर नंगी ही डाल दिया और फिर उन्होंने मुझे वहाँ शॉवर के नीचे ले जाकर मेरे बदन को रगड़ना शुरू किया और इस तरह मुझे ग्रुप बाथ का भी मजा मिला. फिर हम सब अंदर गये और हम सबने साथ में नंगे ही खाना खाया. फिर उसके बाद हम सब साथ मिलकर बड़े से बेड पर लेट गये. फिर मैंने भी फिर से उनके लंड को इन्जॉय करना चालू किया और वो मेरे बूब्स, चूत और गांड को मसलने, चूसने लगे. फिर शाम को उन्होंने मुझे वापस से उसी जगह पर छोड़ दिया, जहाँ से वो मुझे लेकर आए थे.