बस में मजे

desi sex stories, hindi sex kahani

दोस्तों, मेरा नाम पंकज है और मैं बनारस में रहता हूँ . एक बार की बता है, मुझे किसी वजह से दिल्ली जाना था . ट्रैन में रिजर्वेशन नही मिला तो मैंने स्लीपर बस बुक की और सफ़र करने लगा . लखनऊ आया तो साथ वाली स्लीपर में एक लड़की चढ़ गयी . लगभग मेरी ही उम्र की थी वो . उसे देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया . मैंने सोचा की कैसे पटाऊ इसको . फिर मैंने उससे सीधा हेल्लो कर दिया . उसने भी ही बोला . ऐसे बातें होने लगीं . बातों बातों में मैंने उसे पता लिया और अपनी सीट पर बुला लिया. शायद वो भी भरी बैठी थी इसीलिए मान गयी . मैंने अब उसको किस करना शुरू कर दिया . वो भी मेरा साथ देने लगी . मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया  तो वो आह हह ह उ ऊ उ उ ऊ म मम म म मम म मम म म मम म म म आह ह हह ह हह ह ह हह ह हह ह  करने लगी .

फिर मैंने उसके सेक्सी बूब्स दबाना शुरू कर दिए अब मैंने उसके दूध को कपड़ों के ऊपर से मसलना शुरू कर दिया . वो फिर से आआ हह ह हह ह हह ह हह ह आराम से.. आह्ह्ह उ ऊ उ ऊ उ ऊ उ ऊ म म मम म मम म म ऊ उई ई इ ई इ इ इ इ इ ईई ई ई इ इ धीरे से.. आह्ह ह ह हह ह ह ह करके सिसकियाँ लेने लगी . मुझे जोश आ गया . मुझे तो मन किया की तुरंत उसकी चूत में एक ही झटके में पूरा लंड उतार दूं लेकिन कण्ट्रोल किया . मैंने अब उसका टॉप उतरा और झट से ब्रा भी खोल दी और उसके निप्पल चूसने लगा . वो मस्ती में आ आआ हह ह ह हह ह हह ह ह हह ह ह हह ह हह ह हह ऊऊ उ उ ऊ उ ऊ उ ऊऊ  ई इ इ इ इ ई ई इ ई उम् मम म म मम्म म मम्म म मम म आराम से.. आह हह ह हह ह ह ऊ उ उ ऊ ऊऊ ऊ ईई ईई इ इ इ ई इ ई ई ओह्ह्ह्हह ह ह ह हह ह ह हह उई इ इ इ ई माँ.. आह्ह ह ह हह ह करने लगी . मुझे उसकी ऐसी मादक सिसकियाँ सुन कर और जोश आ गया . मैंने सोचा की अब और देर करने का कोई मतलब नही है . मैंने झट से उसकी पैंट उतारी और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत चुसनी शुरू कर दी . वो मेरा सर पकड़ कर जोर जोर से आह ह हह ह हह ह हह ह हू ऊ उ ऊ उ ऊ इ इ इ ई इ इ ई इ इ ई इ ई इ इ इ उम म म मम म म माह ह ह ह हह ह हह ह हह हह ओह्ह ह ह हह ह ह हह ह ह हह हह ह हह आराम से… आहाह हह ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह ह्ह्ह ऊऊ हह ह हह ह ह हह हह ही ई इ ई ई ईई ई इ ई इ इ ईई ई इ ई ऊ ओ हह ह हह ह  मम म म मम म म म्मम्म मम म करने लगी . मैंने अब उसकी पैंटी भी निकाल दी और वो पूरी नंगी हो गयी

अँधेरा होने की वजह से मैं उसका शरीर देख तो नही पाया लेकिन अंदाजा हो गया था की मस्त बॉडी है उसकी . मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया . वो अब और जोर से आह हह ह ह हह ऊऊ उ ऊ उई इ ई ई इ इ ई इ ई ई इ ई इ इ उम मम म म मम म मम म म म मम म म म मम म मम म मम आह्ह ह ह हह ह हह ओह्ह ह ह हह ह ह हह हिस्स स स  स स स  स स  स ओ हह ह ह हह ह हह उम मम म उम हह ह हह ह हह ह ह करने लगी . लगभग 10 मिनट की चूत चटाई के बाद उसकी चूत ने माल छोड़ दिया .

अब मैंने उसको अपना लंड पकड़ा दिया . वो मेरा 8 इंच का लंड देखकर चौंक गयी . वो दर गयी लेकिन जब मैंने कहा तो वो मान गयी और मेरे लंड को चूसने लगी . उसके मुंह से ग्ग्प प्प प प प्प प प प्प प प प्प प प्प प पपप प प प्प ग्ग्ग्ग प्प प्प प प्प प प प्प प प की अवा आ रही थी . मुझे जोश आ रहा था और मैं भी आह हह ह हह ह ओ ह हह ह ह हह ह हह ह ह हह उम म मम म मम म म चुसो.. अच्छे से.. पूरा लो मुंह में.. ऊ ह ह ह ह हह ह हह ह ह हह ह ह ह ह ह हह  करने लगा .

फिर मैंने तुरंत लंड निकाला और उसकी चूत पर टिका दिया . उसकी चूत पर रखकर मैंने एक हल्का सा धक्का दिया . लंड आधा घुस गया . वो रो पड़ी और जोर जोर से कहने लगी ऊऊ उ ऊ इ ई इ इ ई इ इ ई इ इ इ ई इ इ ई आह्ह ह ह ह हह ह ह ह ह हह ह ह हह ह छोड़ दो.. अहः हह ह ह ह ह हह ह ह हह ह हह आह हह ह ह ह हह ह ह ह ह इउ उ इ इ ई इ इ ई इ इ ई इ इ ई इ इ इ ई  मर गयी मैं … उई इ इ ई इ इ ई इ इ इ . मैंने बिना रहम किये चोदना जारी रखा . थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा . अब वो मेरा साथ देने लगी . मैंने उसे और जोर से चोदना शुरू कर दिया . वो भी मजे से चुदवाने लगी और उम म म म मम म म मम म मम्म मो ह हह ह ह ह हह ह अहह ह ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह  चोद दो मुझे.. चोदो.. आह्ह ह हह ह हह ह उ म मम म म म मम म मम ओ ह ह हह ह हह ह ह ह हह ह  अहह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह्हह ह हह हह ह ह ह ह्ह्ह ह करने लगी .

मैं लगभग आधे घंटे की चुदाई के बाद झड गया और अपना माल रुमाल में पोछ लिया . दिल्ली में हम दोनों ने कई बार सेक्स किया .