बीवी के साथ माँ और सास का चोदन

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रवि है और में अहमदाबाद का रहने वाला हूँ. मेरी बीवी का नाम गुड़िया है और वो 27 साल की है, वो चुदाई में बहुत ही मस्त है और में उसको खूब चोदता हूँ. मेरी सास जो कि 54 साल की है, वो काफ़ी मोटी है और मेरी माँ जिसका नाम सरला है, वो 52 साल की है और थोड़ी सांवली है, उसकी साईज़ 38-32-40 है और उसकी गांड बहुत ही मस्त है. मेरे साले का नाम राजू है, वो मेरी बीवी से बड़ा है और वो 31 साल का है, मेरी उससे बहुत ही बनती है.

ये कहानी आज से 2 साल पहले की है. आज से 2 साल पहले मैंने और मेरी बीवी ने बाहर जाने का प्रोग्राम बनाया तो मेरी माँ ने कहा कि बहुत दिन हो गये है, अगर कहीं मंदिर वग़ैरह जाने प्रोग्राम हो तो में भी चलूँ. फिर मेरी बीवी ने कहा कि तो चलो सोमनाथ चलते है. फिर मैंने कहा कि ठीक है. फिर मेरी बीवी ने कहा कि मेरी सास से भी पूछ ले अगर वो चलना चाहे तो, मैंने कहा कि मज़ा आएगा.

फिर हम तीनों एक साथ सेक्स करेंगे. फिर वो बोली कि हाँ तुम्हें तो सिर्फ़ चोदना ही दिखाई देता है. फिर मैंने कहा कि तुम्हारी माँ चीज़ ही ऐसी है तो क्या करें? और फिर हम दोनों हँसने लगे. फिर उसने फ़ोन पर मेरी सास से पूछा तो वो भी तैयार हो गयी. फिर मेरी माँ ने कहा कि तुम अकेले हो और तीन औरते है तो सामान वग़ैरह ज़्यादा हो जाएगा. फिर मैंने कहा कि क्या करे? तो मेरी बीवी बोली कि क्यों ना मेरे भाई को भी अपने साथ ले चले? तो मैंने कहा कि ठीक है, अब मुझे कुछ मायूसी हुई.

फिर हमने एक स्लीपर बस में चार डबल और एक सिंगल सीट बुक करा ली और रात को चल पड़े. अब रात में मेरे साथ मेरी बीवी, माँ और मेरी सास साथ में और सिंगल सीट में मेरा साला लेट गया था. अब रात होते ही मैंने मेरी बीवी की चूचियां दबाना शुरू कर दिया. अब वो भी मज़े लेने लगी थी. अब मैंने मेरी बीवी को चोदना शुरू ही किया था कि अचानक किसी ने मेरे स्लीपर का दरवाजा खोला. अब में अपना लंड मेरी बीवी की चूत में डालकर चोद रहा था तो मैंने देखा कि वो मेरी माँ थी. अब हम दोनों एकदम चौंक गये थे और वो भी मेरे लंड को देखकर शर्मा गयी थी. फिर मेरी बीवी ने कहा कि कोई बात नहीं माँ, बोलो क्या हुआ? तो वो बोली कि कुछ नहीं मुझे बहुत ज़ोर से टॉयलेट लगी है तुम ड्राइवर को बोलो कि वो बस को रोक दे, तो मैंने कहा कि ठीक है.

फिर में खड़ा होने लगा तो मेरी बीवी बोली कि अरे मेरा काम तो हो जाने दो. फिर माँ ने कहा कि हाँ बेटा उसका काम ख़त्म कर दो और फिर मेरी बीवी और माँ मुस्करा दी. फिर में उसको चोदकर बाहर गया और बस रुकवाई, तो बाहर बहुत अंधेरा था. फिर मेरी माँ बोली कि बेटा मुझे कुछ नहीं दिख रहा है क्या करूँ? तो मैंने कहा कि आप उतरो में मोबाइल से लाईट दिखाता हूँ. फिर वो बोली कि ठीक है और मैंने लाईट दिखाई. अब वो मेरे सामने ही अपनी साड़ी ऊँची करके बैठ गयी थी.

अब मुझे उसकी पूरी गांड दिख रही थी शायद अब माँ को भी ये पता था कि में उनकी पूरी गांड देख रहा हूँ. अब उन्हें देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया था. फिर वो टॉयलेट करके खड़ी हुई तो वो मेरे लंड को देखने लगी और मुस्कुराकर बोली कि मैंने कहा तो था कि अपना काम ख़त्म कर ले, बाद में मुझे टॉयलेट करा देता. फिर में कुछ नहीं बोला और फिर हम बस में चढ़ गये और सुबह सोमनाथ पहुँच गये. अब सुबह पहुँचते ही हमने नहा धोकर दर्शन किए और पूरा दिन वहाँ घूमे.

अब आज मेरी सास काफ़ी उदास लग रही थी तो मैंने उनके पास जाकर पूछा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि कुछ नहीं मेरे राजा में तो इसलिए आई थी कि हम दोनों फिर से मज़े करेंगे, लेकिन ये तेरी माँ और मेरे मादरचोद बेटे ने सब काम बिगाड़ दिया. फिर मैंने कहा कि चिंता मत करो में कुछ करता हूँ और वहीं पर उनकी गांड पर अपना हाथ फैर दिया.

फिर हम रात को एक होटल में गये और एक ही बड़ा रूम ले लिया, जिसमें हम पाँचो लेट गये. फिर रात को मैंने और मेरी बीवी ने फिर से सेक्स करना शुरू कर दिया, तो मैंने देखा कि मेरी माँ हम दोनों को देख रही है और अपने बूब्स दबा रही है. फिर मैंने मेरी बीवी को ये इशारा किया तो उसने उनकी तरफ देखा तो वो मुस्कुरा दी. फिर मेरी बीवी ने मेरी माँ के बूब्स दबा दिए. अब में भी यह सब देख रहा था. फिर मेरी माँ बोली कि यहाँ तुम्हारी माँ भी है, वो क्या सोचेंगी?

फिर मेरी बीवी ने कहा कि सब जाग जाओ, तो सब लोग तुरन्त खड़े हो गये क्या हुआ? तो मेरी बीवी ने मेरी सास से पूछा कि माँ मेरी सास अपने बेटे का लंड लेना चाहती है, लेकिन आपकी वजह से नहीं ले पा रही है तो मेरी सास ने कहा कि बेटी मुझे भी चुदना है, लेकिन क्या करूँ तुम्हारी सास की वजह से नहीं कर पा रही हूँ? फिर मेरी बीवी ने मेरे साले से कहा कि भैया तुम क्या सोचते हो? तो मेरा साला कुछ नहीं बोला. फिर मेरी सास बोली कि बेटा वो तो मेरी चूत का गुलाम है तू तो जानती ही है मुझे चुदवाने की आदत है, लेकिन तेरे पिताजी के बाद घर पर तेरा भाई मुझे खूब चोदता है.

अब ये सब सुनकर मेरी बीवी बोली कि माँ मुझे ये सब पता है कि भैया तुम्हें चोदते है और मुझ पर भी नज़र रखते है. फिर मेरा साला बोला कि अरे मेरी रंडी बहन तू तो है ही ऐसी, तो में क्या करूँ? लेकिन तू आज तक मेरे हाथ में नहीं आई. फिर मेरी बीवी उठकर सीधी मेरे साले के मुँह पर अपनी चूत रखकर बोली कि भैया अब तो सीधी मुँह में ही आ गयी और फिर सब हँसने लगे.

फिर मेरी सास ने मेरी माँ से कहा बहन जी आपका लड़का बहुत ही अच्छा है और चुदाई तो ऐसे करता है क्या बताऊँ? मैंने आज तक बहुत लंड लिए, लेकिन दामाद जैसा लंड तो किसी का नहीं है. फिर मेरी माँ बोली कि तो फिर देर किस बात की है जब हम सब चुदना चाहते है तो फिर शर्म किस बात की है और फिर हम पांचो नंगे हो गये.

फिर मेरी बीवी ने कहा कि हम सबके नाम लेकर ही बुलाएगें, तो सबने कहा कि हाँ ठीक है. फिर गुड़िया खड़ी हुई और राजू का लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. अब मेरी सरला भी अपनी चूत पर अपना हाथ घुमा रही. फिर मेरी बीवी बोली कि कुत्ते चूत बुला रही है और तू दूर खड़ा है, तो में तुरंत अपनी माँ की चूत को चाटने लगा और मेरी सास तुरंत मेरी गांड चाटने लगी. अब हम सबको इतना मज़ा आ रहा था कि क्या बताऊँ? फिर मेरी माँ मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और बोली कि बेटा कल रात को तुम्हारा लंड देखकर में पागल हो गयी थी, लेकिन क्या करती?

फिर मेरी बीवी बोली कि अरे मेरी रंडी सास कल रात को ही अपनी चूत में डाल लेती और मेरे साले से बोली कि भैया तू तो बड़ा चुदक्कड है, माँ को रोज ठोकता है. फिर वो बोला कि क्या करूँ मेरी रंडी बहन? अपनी माँ है ही ऐसी उसे लंड तो चाहिए ही है. फिर मैंने अपना लंड मेरी माँ की चूत में पूरा उतार दिया और चोदने लगा.

फिर माँ बोली कि और ज़ोर से चोदो मेरे बेटे फाड़ दे इस चूत को और फिर में ज़ोर-ज़ोर से माँ को चोदने लगा. फिर मेरी सास भी बोली कि बेटा मुझे भी अपने लंड का स्वाद दो, तो मैंने माँ की चूत में से अपना लंड बाहर निकालकर मेरी सास के मुँह में दे दिया और फिर से माँ की चूत में अपना लंड डाल दिया. फिर मेरी सास बोली कि बहन जी आपकी चूत का स्वाद तो बहुत ही अच्छा है और फिर में मेरी माँ की चुदाई करने लगा. फिर मैंने माँ को उल्टा किया और उसकी गांड के छेद पर अपना लंड रखा तो वो बोली कि बेटा ये मत करो, ये आज तक कुँवारी है.

फिर मेरी सास बोली कि बहन जी आज तक आपने इसे बचाए रखा, क्या बात है? तो मेरी बीवी बोली कि माँ आपका बेटा तो गांड का दिवाना है, वो रात को जब तक गांड ना मारे मुझे सोने नहीं देता है. फिर मैंने माँ की गांड पर अपना थूक लगाया और अपना लंड रखा तो माँ बोली कि बेटा दर्द हो रहा है. फिर मेरी सास बोली कि बेटा दर्द की चिंता मत कर, आज डाल दे फाड़ दे इस रंडी की गांड और बना ले अपनी रंडी. फिर मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने ज़ोर से धक्का मारा तो मेरा लंड पूरा माँ की चूत में चला गया और मेरी माँ दर्द से कराह उठी. फिर मैंने अपना लंड धीरे-धीरे अंदर बाहर करना शुरू किया. फिर थोड़ी में उसे भी मज़ा आने लगा और बोली कि हाँ बेटा फाड़ दे इसे, मैंने तो आज तक इसका मज़ा ही नहीं लिया था और फिर में ज़ोर-ज़ोर से माँ को चोदने लगा.

फिर मेरा साला खड़ा हुआ और मेरी सास की चूत में अपना लंड डालकर चोदने लगा. फिर मेरी माँ बोली कि आज में बहुत खुश हूँ जो मेरे बेटे को ऐसा ससुराल मिला है. फिर मेरी बीवी बोली कि माँ अब तो रोज इस लंड के मज़े लो. फिर मेरी माँ बोली कि हाँ बिल्कुल और फिर मेरे साले ने मेरी माँ की चूत में अपना लंड डाल दिया, तो मेरी माँ बोली कि मादरचोद फाड़ दी मेरी चूत.

फिर मेरी सास बोली कि बहन जी में तो एक साथ तीन-तीन का लंड ले लेती हूँ और आप दो में ही चिल्ला रही हो, तो मेरी माँ बोली कि साली कमीनी आज तक में सिर्फ़ अपने पति से ही चुदी हूँ, आज तूने दो एक साथ डलवा दिए है. फिर में बोला कि माँ आज से हर लंड तेरा पति है, अब तू मज़े ले और फिर हम जीजा साले मिलकर मेरी माँ की चुदाई करने लगे.

फिर 20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गये और अलग हुए. फिर मेरी माँ ने मेरी सास और मेरी बीवी को गले लगाकर कहा कि आज में आप लोगों की वजह से बहुत खुश हूँ, जो मुझे ये मौका मिला. फिर मेरी बीवी बोली कि माँ अब तो तू रोज अपनी बहु के साथ में ही चुदेगी. फिर मेरी माँ बोली कि भगवान ऐसी बहु सबको दे और फिर मेरी माँ ने मेरी सास से कहा कि बहन जी अब में भी आपकी तरह ही बनना चाहती हूँ तो मेरी सास बोली कि बहन जी चुदाई है ही ऐसी चीज, एक बार लंड मिलते ही आदमी पागल हो जाता है और फिर हम सब साथ में नंगे ही सी गये. अब जब भी हमें मौका मिलता है तो हम सब चुदाई कर लेते है और खूब मजे करते है.