भैया की साली को विदेश से आने बाद चोदा

desi kahani, antarvasna

मेरा नाम विकास है मैं विदेश में रहता हूं, मेरी उम्र 28 वर्ष है। मैं काफी समय से अपने घर भी नहीं गया, मैं इससे पहले अपने भाई की शादी में ही अपने घर गया था। मेरा घर बठिंडा में है, मेरा अपने घर पर जाना बहुत ही कम होता है, मैं पिछली बार अपने भैया की शादी में ही घर पर गया था। मेरे भैया बठिंडा में ही रहते हैं और वह बैंक में नौकरी करते हैं, उनकी शादी को डेढ वर्ष हो चुके हैं और मैं उनकी शादी में ही पिछले मैं बार घर गया था। मेरी हमेशा ही मेरे भैया और मेरे माता-पिता से बात होती है। कभी कबार मैं अपनी भाभी से भी बात कर लेता हूं, वह मुझे हमेशा कहती है कि तुम शादी कब कर रहे हो, मैं उन्हें कहता हूं कि अभी मैं शादी नहीं करना चाहता क्योंकि मैं अभी यहीं पर अपना सेटलमेंट कर देख रहा हूं इसलिए मुझे अभी शादी नहीं करनी। मैं कुछ समय बाद ही शादी करूंगा। जब मेरे भैया की शादी हुई थी उस वक्त हमने बहुत ही मजे किए थे और उनकी शादी हमने बहुत ही धूम-धड़ाके से कि।

वह बहुत ही खुश थे जब उनकी शादी हुई थी क्योंकि भाभी और उनके बीच में प्रेम संबंध है। जब इसकी जानकारी उन्होंने मेरे पिता को दी तो उन्होंने भी इस रिश्ते के लिए मना नहीं किया क्योंकि मेरे भाभी के घर वाले भी अच्छे परिवार से हैं और मेरे भाभी की तरफ से भी उनके पिताजी ने मना नहीं किया क्योंकि मेरे भैया बैंक में नौकरी करते हैं इसलिए उन्हें भी रिश्ते से कोई आपत्ति नहीं थी। उन दोनों की शादी हो गई तो वह दोनों साथ में बहुत ही खुश हैं। मैं भी सोचने लगा कि मुझे काम करते हुए काफी समय हो चुका है इसलिए मुझे कुछ दिनों के लिए अपने घर चले जाना चाहिए, मैंने अपनी कंपनी में छुट्टी के लिए अप्लाई कर दिया लेकिन मुझे कंपनी के द्वारा छुट्टी नहीं मिली थी इसलिए मैं सोचने लगा जब मुझे छुट्टी मिलेगी उसी वक्त मैं घर जाऊंगा। मैंने अपने बॉस से इस बारे में बात की तो वह कहने लगे की ठीक है तुम कुछ दिनों के लिए घर चले जाओ। मुझे उन्होंने एक महीने की छुट्टी दे दी और मैं तुरंत ही अपने घर लौट आया।

मैंने जल्दी से अपनी फ्लाइट की टिकट बुक की और मैं तुरंत ही बठिंडा पहुंच गया। जब मैं भटिंडा आया तो मैंने इसकी जानकारी अपने घरवालों को नहीं दी, उन्हें भी मेरे आने की कोई जानकारी नहीं थी। जब मैं घर पहुंच गया तो वह सब लोग मुझे देखकर हैरान रह गये। उस दिन मेरे भैया की भी छुट्टी थी और वह घर पर ही थे, सब लोग मुझे देखकर बहुत खुश हुए और कहने लगे तुम अचानक से कैसे घर आ गए। मैंने उन्हें कहा कि मेरा मन हो रहा था तो मैंने सोचा मैं घर पर आ जाऊं इसलिए मैंने छुट्टी के लिए अप्लाई कर दिया और मैं घर आ गया। मेरे मम्मी पापा और भैया और भाभी बहुत खुश थे। मैं फ्रेश होने के बाद कुछ देर आराम करने के लिए चला गया। जब मैं फ्रेश होकर वापस लौटा तो मैं उन सब के साथ बैठकर बातें कर रहा था, वह लोग भी बहुत खुश थे और मैं भी बहुत ज्यादा अच्छा महसूस कर रहा था। मेरे भैया ने मुझे कहा कि तुम्हारी भाभी प्रेग्नेंट हो गई है और तुम बहुत जल्दी चाचा बनने वाले हो। मैंने भैया से कहा यह बात तो आपने मुझे बताया ही नहीं, वह कहने लगे कि मैं तुम्हें यह बात नहीं बताना चाहता था, मैं तुम्हे सरप्राइस देना चाहता था लेकिन अब तुम आ गए हो तो मैंने सोचा मैं तुम्हें इसके बारे में जानकारी दे दू। मैं अपने दोस्तों से भी मिलने के लिए चला गया और मैं अपने सारे पुराने दोस्तों से मिला, वह लोग भी मुझसे मिलकर बहुत खुश हुए और कहने लगे कि तुम काफी समय बाद वापस आए हो, मैंने उन्हें कहा कि इतने दूर से आना मुश्किल हो जाता है इसलिए साल 2 साल में एक बार ही आना होता है। मैं अपने दोस्तों के साथ बहुत खुश था और उनके साथ ही समय बिता रहा था। वह लोग भी मेरे साथ बहुत खुश थे और कह रहे थे कि तुम जब से आए हो तब से हमें बहुत अच्छा लग रहा है। मेरे कई दोस्तों ने तो अपना ही काम कर लिया था और उनका काम भी बहुत अच्छे से चल रहा था इसलिए मैं उनके साथ ही बैठा रहता था और हम लोग अपने पुराने समय की बात करते रहते थे और कहते थे कि हम लोग कॉलेज में किस प्रकार से मौज मस्ती किया करते थे।

मैं उन्हें कहता हूं वह तो बहुत ही अच्छे दिन थे लेकिन अब तो समय बिल्कुल बदल चुका है। अब सब लोग अपने काम में व्यस्त हो चुके हैं। मैं जब अपने दोस्तों को मिलकर शाम को घर लौटा तो मैंने देखा कि मेरी भाभी की बहन भी हमारे घर पर आई हुई है, उसका नाम राधिका है और जब वह मुझे शादी में मिली थी तो उसकी और मेरी बहुत बात हुई थी। मुझे उससे बात करना अच्छा लगता है। जब मैंने उससे पूछा कि तुम कब आई तो वह कहने लगी कि मैं अभी कुछ देर पहले ही आई हूं। वह भी मुझसे मिलकर बहुत खुश हुई और कहने लगी कि तुम तो शादी के बाद गायब ही हो गए, मैंने उसे कहा कि मेरा काम ही ऐसा है इस वजह से मैं जल्दी चला गया था। राधिका की उम्र 26 वर्ष की है और वह स्कूल में पढ़ाती है। मैंने उसे पूछा कि तुम्हारा स्कूल कैसा चल रहा है, वह कहने लगी कि स्कूल की आजकल छुट्टियां पड़ी है तो इसलिए मैं दीदी से मिलने के लिए आ गई। मैंने उसे कहा यह तो तुमने बहुत ही अच्छा किया इसी बहाने मेरी भी तुमसे मुलाकात हो गई, नहीं तो शायद मेरी मुलाकात तुमसे  नहीं हो पाती। वह मुझसे कहने लगी कि मिलने के लिए समय होना चाहिए नहीं तो तुम मेरे घर पर भी आ सकते हो,  मैंने उसे कहा समय ही तो मेरे पास नहीं है।

मुझे राधिका से मिलकर बहुत ही खुशी हो रही थी और वह भी मुझसे मिलकर बहुत खुश थी। राधिका मुझसे कहने लगी कि मैं बाथरूम में फ्रेश होने के लिए जा रही हूं मैं भी अपने कमरे में फ्रेश होने के लिए चला गया। जब मैं अपने रूम से फ्रेश होकर बाहर निकला तो राधिका अब भी नहा रही थी और वह मेरे भैया के रूम में नहा रही थी। मैं जब उस रूम में गया तो वहां पर कोई भी नहीं था मैं वही बैठ गया। राधिका  जब नहा कर बाहर निकली तो उसके कपड़े पूरे भीगे हुए थे और मुझे उसे देख कर बहुत मजा आने लगा। मैंने तुरंत ही उसे अपनी बाहों में ले लिया और जब वह मेरी बाहों में आई तो वह मचलने लगी और उसका शरीर पूरा गर्म होने लगा। मैंने जब उसके कपड़े उतारे तो उसका बदन बहुत ही मुलायम था उसने अंदर से कुछ भी नहीं पहना हुआ था मैंने उसके होठों को किस कर लिया और उसके बाद मैंने उसके स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसने शुरू कर दिया। मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा करते हुए उसकी योनि को काफी देर तक चाटा जिससे कि उसका तरल पदार्थ बाहर की तरफ आ जाता। मैंने जब उसकी योनि पर अपने लंड को लगाया तो उसकी योनि बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी और मैंने जैसे ही धक्का मारकर उसकी योनि में अपने लंड को डाला तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा करते हुए बड़ी तेज झटके मारने लगा। मैंने उसे इतनी तेज धक्का मारा कि मुझे भी पूरा आनंद आने लगा और उसे भी बहुत मजा आने लगा वह भी मेरा पूरा साथ देती वह अपने मुंह से मादक आवाज निकाल रही थी। मेरा लंड छिल चुका था क्योंकि उसकी योनि बहुत टाइट थी मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि उसकी योनि इतनी टाइट होगी। जब मैंने उसकी योनि पर देखा तो उससे खून भी निकल रहा था मैंने उसे अपने ऊपर बैठा दिया जैसे ही मेरा लंड उसकी योनि के अंदर गया तो वह चिल्लाने लगी और मैंने उसके होठों को किस करते हुए उसे धक्के देना शुरू कर दिया। कुछ देर तक मैंने उसके होठों को बहुत अच्छे से किस किया उसके होठों को मैंने अपने दांतों से काट दिया था। मैं उसके स्तन को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा मुझे बहुत मजा आता जब मैं उसके स्तनों को अपने मुंह में ले रहा था। वह भी पूरे मूड में आ चुकी थी और अपनी बड़ी-बड़ी चूतडो हिला रही थी। वह जब अपन चूतडो को हिला रही थी तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस होता और वह भी पूरे मूड में आ चुके थी इसलिए वह बड़ी तेज तेज अपनी चूतडो को हिला रही थी। जिससे कि मुझे भी बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और मेरा माल उसकी योनि के अंदर ही चला गया।