भाभी मेरी संगिनी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम सुमित है। मेरी उम्र 21 साल है, में उड़ीसा का रहने वाला हूँ।  यह कहानी मेरी और मेरी पड़ोस में रहने वाली रीता भाभी की है। अब में पहले आपको उनके बारे में बताता हूँ, वो लगभग 37 साल की होगी, उनका बदन बहुत सेक्सी है, उनके पति की मौत एक कार एक्सिडेंट में 2 साल पहले हो गयी थी। उनका फ्लेट मेरे घर के ऊपरी हिस्से में है। मेरे घर के नीचे के हिस्से में मेरी फेमिली रहती है और ऊपर के हिस्से में मेरा रूम है। उनके एक बच्चा है जो नर्सरी में पढ़ता है। में अक्सर उनके घर में बैठा रहता था, तो वो मेरे सामने एकदम केयर लेस रहती थी, तो मुझे बार-बार उनकी चूची और जाँघे दिख जाती थी। फिर एक दिन वो सुबह-सुबह मेरे रूम में किसी काम के लिए आई और मुझे जगाने लगी। में उस समय अंडरवेयर में सोया था और रज़ाई ओढ़कर सोया था। में रात को सोने के वक़्त दरवाज़ा लॉक नहीं करता था और केवल ऐसे ही सटाकर छोड़ देता है इसलिए वो बिना नॉक किए हुए अंदर चली आई थी।

फिर उन्होंने आते ही मेरी रज़ाई खींचकर मुझे जगाया। अब मेरा लंड उस समय तना हुआ था तो मैंने उसे छुपाने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा कि क्या छुपा रहे हो? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं। फिर उन्होंने कहा कि एक बार दिखाओ, तो में उठकर भागने की कोशिश करने लगा।  तो उन्होंने मुझे धक्का देकर गिरा दिया और दरवाजा बंद कर दिया। अब उन्होंने मुझे अपनी बाहों में कसकर जकड़ लिया था। उस समय वो मस्त नहाकर आई थी, उन्होंने पिंक कलर की नाइटी पहनी हुई थी। अब मुझे उनकी इस हरकत से अजीब लगा, लेकिन मुझे मज़ा भी आ रहा था। उस दिन मेरे घर के सभी लोग किसी काम के सिलसिले में सुबह ही बाहर चले गये थे इसलिए में बिल्कुल भी नहीं डरा और उनके बड़े-बड़े बूब्स को दबाने लगा।

loading...

अब वो बिल्कुल मदहोश हो चुकी थी और अचानक से उन्होंने मुझे अपने से अलग करके कहा कि जाओ  बाथरूम जाकर नहाकर आओ। फिर मैंने बाथरूम में जाकर मुठ मारी और नहाकर बाहर निकला। तो उन्होंने कहा कि नाश्ता करके उनकी बेटे को बस स्टैंड पर ड्रॉप करके आओ। फिर में जब घर वापस आया तो मैंने देखा कि वो मेरे रूम में आकर बैठी हुई है। फिर उन्होंने मुझसे 2 मिनट बात की और कहा कि सुबह की बात से मुझे बुरा तो नहीं लगा। तो मैंने कहा कि भाभी मुझे तो बहुत अच्छा लगा।  तो उनके चेहरे पर मुस्कान आ गयी  और उन्होंने एक सी.डी मुझे देकर मुझे कंप्यूटर में चलाने कहा।  अब सर्दी के दिन होने से हम लोग रज़ाई ओढ़कर फिल्म देखने लगे थे तो मैंने देखा कि वो अपने हाथों से अपने बूब्स को सहला रही थी, तो यह देखकर में भाभी के बूब्स को दबाने लगा।

अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी। फिर मैंने उनकी नाइटी को खोल दिया, अब वो ब्लेक कलर की ब्रा और  पेंटी में थी। फिर उन्होंने मुझे अपने कपड़े खोलने को कहा और मेरे लंड को सहलाने लगी। फिर मैंने उनकी ब्रा और पेंटी भी उतार दी, उनके बूब्स बड़े-बड़े और टाईट थे और उनकी चूत काले बालों से ढकी थी। फिर जब मैंने अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाली, तो वो बिल्कुल गर्म और टाईट थी। तो तभी उन्होंने कहा कि धीरे से चोदना में पिछले 2 साल से नहीं चुदी हूँ। फिर में धीरे से अपना लंड उनकी चूत के सामने लाया तो उन्होंने कहा कि इस पोज़िशन में लंड अंदर नहीं जाएगा। फिर उन्होंने अपना घुटना मोड़कर मुझे लंड डालने को कहा। तो मैंने धीरे से अपना लंड उनकी चूत में डाला तो वो बिल्कुल भी नहीं घुसा। फिर जब मैंने ज़ोर से एक धक्का दिया तो मेरा लंड पूरा घुस गया, लेकिन वो दर्द से बिलबिला उठी।

फिर थोड़ी देर के बाद मैंने शॉट लगाना शुरू कर दिया। अब वो भी मजे लेने लगी थी, अब उनके मुँह से बहुत सेक्सी सिसकारी निकलने लगी थी आआआआआआआसस्स्स्स्सह। फिर में उन्हे 10 मिनट तक चोदता रहा और फिर उसके बाद मैंने उनकी चूत के अंदर ही अपना जूस छोड़ दिया। अब वो भी बहुत गर्म थी, फिर उन्होंने मुझे किस किया और कहा कि प्लीज मुझे ठंडा कर दो। फिर मैंने कहा कि थोड़ी देर के बाद लंड खड़ा हो जाने पर फिर से चुदाई करूँगा। फिर उन्होंने मुझे बाथरूम में जाकर लंड को धोकर आने को कहा। फिर जब में बाथरूम से वापस आया, तो वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। अब इस चुसाई से मेरा लंड जल्दी ही खड़ा हो गया था और फिर मैंने उनकी जमकर चुदाई की तो इस बार उनकी चूत से फव्वारा निकला, जिससे मेरा बेड गीला हो गया। फिर हम लोगों ने उस दिन 3 बार और चुदाई की और अब भी रात को में उनके साथ ही सोता हूँ और हम दोनों खूब चुदाई करते है,  एक तरह से मुझे रात में बीवी का साथ मिल गया है और उसे भी मुझसे चुदवाने में बहुत मज़ा आता है ।।

धन्यवाद …