भाभी के दिल पर लंड की छाप

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम नरेश है और मेरी उम्र 30 साल है कलर गोरा, मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और में मुंबई का रहने वाला हूँ. यह मेरी सच्ची कहानी है और यह बात 6 महीने पुरानी है. मेरी स्टोरी ऐसे शुरू हुई कि मुझे भी नहीं मालूम यह क्या हुआ था? मैंने किसी काम से अपने मोबाईल से किसी का नंबर लगाया, लेकिन गलती से गलत नंबर लग गया. फिर सामने से किसी औरत की आवाज़ आई, कौन है? तो मैंने कहा कि मुकेश है?

उसने कहा कि नहीं आपने कौन सा नंबर लगाया है, तो फिर मैंने उसे नंबर बताया, तो वो बोली कि सॉरी आपका गलत नंबर है. फिर में उससे ऐसे ही बात करने लगा और अब वो भी मेरा जवाब दे रही थी. फिर मैंने पूछा कि यह कहाँ का नंबर है? तो वो बोली कि बोरीवली का है. फिर मैंने कहा कि में भी दादर से बोल रहा हूँ. फिर उसने पूछा कि आपका नाम क्या है? तो मैंने उसे अपना बताया, तो उसने भी अपना नाम उषा बताया और फिर हम दोनों ने मोबाईल कट कर दिया.

फिर ऐसे ही मैंने दूसरे दिन उसको मैसेज भेजा तो मैसेज देखने के बाद उसने भी रिप्लाई किया और फिर यह सिलसिला 2-3 दिन तक चला और उसका मिस कॉल आया, तो मैंने उसको कॉल किया. फिर वो बहुत खुश होकर बोली कि वाह क्या मैसेज भेजते हो? मुझे तुम्हारी बातें बहुत अच्छी लगी, क्या तुम मुझसे मिलना चाहते हो? तो मैंने हाँ की, तो वो बोली कि कल में तुम्हें बोरीवली स्टेशन पर दोपहर को मिलूंगी और हमारा टाईम फिक्स हो गया और कहाँ पर मिलना है? वो भी तय हो गया, तो वो क्या कपड़े पहनेगी? वो भी बताया.

फिर अगले दिन में टाईम पर चला गया तो मैंने उसको कॉल किया और मोबाईल पर बात करने पर वो मेरे सामने आ गयी. अब इसके पहले ना वो मुझसे मिली थी और ना में उससे मिला था. अब मेरे सामने आने पर मेरे दिल की धड़कन बहुत तेज़ हो गयी थी. वो मेरी सोच से भी बहुत ज्यादा खूबसूरत औरत थी और उसकी उम्र 26 साल की होगी, शायद वो शादीशुदा लग रही थी. फिर हाए हैल्लो होने के बाद उसने भी बताया कि मैंने सोचा था कि तुम उससे भी जवान और हैंडसम निकले हो. फिर हम दोनों एक होटल में बात करने के लिए बैठ गये, उस टाईम होटल खाली था. फिर उम दोनों नाश्ते का ऑर्डर देकर बातें करने लगे. अब हम दोनों की बात से ऐसा लग रहा था कि हम दोनों की जान पहचान बहुत पुरानी हो. फिर हम दोनों 2 घंटे के बाद अलग हुए और फिर हम दोनों अपने-अपने घर चले गये. फिर बाद में मुझे मालूम हुआ की उसकी शादी 2 साल पहले हुई है, लेकिन शादी से आज तक उसके पति ने उसे प्यार नहीं किया है, क्योंकि उसका पति उसकी कॉलेज की दूसरी औरत से प्यार करता है और उसके पति ने सिर्फ़ उसके माँ-बाप के लिए शादी की है.

फिर मैंने कहा कि तुम तो इतनी खूबसूरत हो और कोई भी आदमी तुम्हें प्यार करना चाहेगा. फिर उसका क्या जवाब था? क्या तुम मुझे प्यार करोगे? तो मैंने कहा कि हाँ. फिर क्या था? हम दोनों की मुलाकात होने लगी, लेकिन हम दोनों ने सिर्फ़ अब तक मोबाईल पर आई लव यू और किस किया था. फिर एक दिन उसने बताया कि उसका पति और उसकी फेमिली 2-3 दिनों के लिए दिल्ली जा रहे है. में घर पर अकेली हूँ. फिर उसने मुझे अपने घर पर बुलाया, तो में उसके घर चला गया. आज पहली बार हम दोनों बिल्कुल अकेले में मिले थे और फिर मैंने उसको पकड़कर अपने पास में लेकर हम एक दूसरे की आँखों में आँखें डालकर देखने लगे. अब वो भी अपनी प्यासी नजरों से मुझे देखने लगी थी और जैसे वो कुछ कहना चाहती हो.

फिर मैंने धीरे से उसके होंठो पर किस किया, तो उसने अपनी आँखें बंद कर दी और मुझे ग्रीन सिग्नल दे दिया कि में अब तुम्हारी हूँ और जो तुम करना चाहते हो वो करो, मुझे भी तुम्हारी एक-एक अदा पसंद है. फिर क्या था? में धीरे-धीरे उसके होंठो को अपने होंठो से किस करने लगा, शायद 20 मिनट तक मैंने उसके होंठो को अपने प्यारे होंठो से लगभग बहुत बुरी तरह से किस किया था.

फिर वो बोली कि जान आज पहली बार मुझे लगा है कि कोई मुझे प्यार करता है. अब वो भी मेरे प्यार का जवाब मेरी उम्मीद से ज़्यादा प्यार का जवाब दे रही थी. उससे पहले मेरी ज़िंदगी में बहुत सी औरतें आई, लेकिन उसने जो प्यार का जवाब दिया था, वो में बिल्कुल भी नहीं भुला सकता, क्या एक-एक जलवा है जवानी का? वो इतनी सेक्स की भूखी थी, ये मैंने उस दिन जाना. फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी साड़ी को अलग किया.

अब वो सिर्फ़ ब्लाउज और पेटीकोट में थी और वो क्या गजब की लग रही थी? अब हम दोनों तो प्यार के नशीली जवानी में दीवाने हो गये थे. फिर में उसके ब्लाउज के बटनों को खोलने लगा, उसके दोनों बूब्स इतनी अच्छी तरह से गोल और बड़े थे कि में अपने होंठो से बारी-बारी से चूमने लगा था. अब में उसकी चूचीयों में खो गया था और लगभग 30 मिनट तक निप्पल सहित उसके पूरे बदन को लाल-लाल कर दिया था.

अब हम दोनों पूरे नंगे हो गये थे और उसका पूरा नंगा बदन देखकर मेरे मुँह से आवाज निकली वाह क्या लगती हो? तो वो भी मेरे लंड को देखकर बोली कि वाह क्या लंड है तुम्हारा? फिर हम दोनों को 1 घंटा तो अब तक अपने-अपने कपड़े उतारने में लगा. फिर हम दोनों के पूरे नंगे होने के बाद वो मेरे पूरे बदन पर अपने होंठो से किस करने लगी. अब वो मेरे लंड के पास आकर बहुत गर्म हो चुकी थी. फिर वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी, लेकिन मेरा लंड मोटा होने की वजह से वो और ज़्यादा गर्म हो गयी और कहने लगी कि जान अब मुझसे रहा नहीं जाता, प्लीज अब मेरी चूत में अपना लंड डाल दो. फिर में उसके ऊपर आकर उसको किस करने लगा और उसकी चूत पर आकर किस करने लगा तो वो पागल हो गयी और नया अनुभव महसूस करने लगी. अब वो पागलों की तरह आवाजे करने लगी थी और बुरी तरह से तड़पने लगी थी.

फिर मैंने अपनी जान को ज़्यादा परेशान ना करते हुए अपना लंड उसकी चूत पर रखा और ज़ोर से एक झटका लगाया, तो वो तड़प गयी. फिर में धीरे-धीरे झटके लगाते हुए अपने पूरे लंड को उसकी चूत में डालने लगा, तो वो बहुत खुश हुई और कहने लगी कि मैंने तुम्हें पसंद करने में कोई गलती नहीं की है, तुम्हारे अंदर क्या सेक्स पॉवर है? कोई भी औरत या लड़की को खुश करने का अलग अंदाज है. फिर मैंने उसकी चूत के अंदर अपना लंड डालने से उसके दिल के साथ उसके पूरे बदन पर अपना नाम लिख दिया. औरत को प्यार के साथ सेक्स मिल जाए तो वो वही करेगी जो आदमी चाहेगा.

फिर क्या था? पूरे 25 मिनट तक चूत और लंड की जंग चलती रही और हम दोनों एक साथ झड़ गये. फिर यह सिलसिला 3 दिनों तक चला और 6 महीने तक टाईम मिलने पर चलता रहा, लेकिन फिर एक दिन ऐसा हो गया जो हम दोनों ने कभी नहीं सोचा था. उषा के पति की गर्लफ्रेंड दूसरे आदमी के साथ शादी करके आउट ऑफ इंडिया चली गयी, तो उसके पति ने अपना ट्रान्सफर दूसरे शहर में करवा लिया. फिर हम दोनों के अलग होने पर वो बहुत उदास और दुखी हुई और फिर उसके बाद से हम दोनों का मिलना नहीं हुआ. अब में अकेला हो गया हूँ और बहुत उदास हूँ.