अजब है ये चूत भी

kamukta, desi porn stories

मेरा नाम नाजनीन है। मेरी उम्र 30 वर्ष है लेकिन मेरी अभी तक शादी नहीं हुई है। क्योंकि मेरे ऊपर बहुत ही जिम्मेदारियां थी। इस वजह से मैंने शादी नहीं की। मेरे घर में मेरी तीन बहनें और हैं इसलिए मैं पहले उनकी शादी करवाना चाहती हूं। उसके बाद मैं अपने बारे में विचार करूंगी। मैं अब्बू की भी बहुत सारी जिम्मेदारियों को अपने कंधो पर ले लेती हूं। इसलिए वह मुझे बहुत ही अच्छा मानते हैं और मेरी मम्मी भी मुझसे बहुत खुश रहती हैं। मैंने उन्हें बताया कि मैं हमेशा आपके साथ ही रहना चाहती हूं और आपका ध्यान रखना चाहती हूं। वह हमेशा ही इस बात से बहुत ज्यादा भावुक हो जाते हैं और मुझे कहते कि यह तुम्हारा खुद का फैसला है। मैं कहती कि हां यह मेरा खुद का ही फैसला है। जिससे कि वह भी थोडा दुखी होते लेकिन मैं उन्हें मना लेती हूं। हम लोग बहुत अच्छे से रहते थे। मेरी बहने भी मुझे बहुत प्यार करती हैं और वह मुझे बहुत ज्यादा आदर और सम्मान देती हैं। क्योंकि मैंने उन लोगों की कॉलेज मैं उन्हें पढ़ने में बहुत ही मदद की है और उन्हें आर्थिक रूप से कभी किसी तरीके से कोई भी परेशानी नहीं होने दी लेकिन कुछ दिनों पहले मेरी नौकरी छूट गई थी और अब मैंने दूसरी जगह नौकरी के लिए अप्लाई किया है।

मुझे इस बार नौकरी मिल गई लेकिन वहां नौकरी मार्केटिंग की थी। मैंने वहां नौकरी कर ली। इसमें सैलरी बहुत अच्छी थी। वह एक सोलर की कंपनी थी। वह अपने ही प्रोडक्ट बनाते थे और बड़े-बड़े डीलरों को अपना सामान बेचा करते थे। कुछ दिनों तक तो मेरी ट्रेनिंग चली। उसके बाद मैंने वहां पर जॉइनिंग कर लिया। अब मैं बड़े-बड़े डीलरों के पास जाने लगी और कुछ दिनों तक तो मुझे उतना अच्छा रिस्पांस नहीं मिला। क्योंकि मार्केट में मुझे लोग अच्छे से नहीं पहचानते थे और कई सारी कंपनियां भी बहुत सस्ते दामों पर अपना सामान बेच रही थी। इसलिए हमारे लिए बहुत ही मुश्किल वाला काम था लेकिन धीरे-धीरे मुझे काम मिलने लगा। कई सारे काम मुझे मिलते चले गए लेकिन जो सबसे बड़े डीलर थे उनमें से एक डीलर सलमान नाम के व्यक्ति भी थे। अब मैं किसी तरह उनके पास रेफरेंस के थ्रू पहुंच गई। मैं जब उनके पास गई तो मैंने उन्हें अपने प्रोडक्ट का डेमो दिखाया लेकिन उन्हें वह पसंद नहीं आया और वह कहने लगे, कुछ नई चीज दिखाओ जो की रेट में भी कम हो। जिसे मैं अच्छे से बेच पाऊं और जिसमें मुझे मुनाफा भी बहुत हो। मुझे भी यह बात अच्छे से मालूम थी अगर इनके पास हमारा सामान बिकता है तो हमें यहां से बहुत बड़ा आर्डर मिल जाएगा। इसलिए मैंने बहुत कोशिश की लेकिन वह आर्डर मुझे मिला ही नहीं।

अब हम लोग छोटे-मोटे डीलर से ही अपना काम चला रहे थे। जिससे कि कंपनी को उतना ज्यादा प्रॉफिट नहीं मिल पा रहा था जितना उन्होंने सोचा था। तो 1 दिन हमारी मार्केटिंग के टीम की मीटिंग हुई। जिसमें यह फैसला लिया गया कि हमारे काम को थोड़ा और बढ़ाने की आवश्यकता है और अच्छे से मार्केटिंग करनी पड़ेगी। इस बार सबको बहुत ज्यादा टारगेट दे दिया गया और साफ शब्दों में कह दिया गया कि यदि कोई यह टारगेट पूरा नहीं करेगा तो उसे नौकरी से निकाल दिया जाएगा। मुझे थोड़ा टेंशन होने लगी कि अगर मैं यह टारगेट पूरा नहीं कर पाई तो कहीं मुझे नौकरी से निकाल ना दिया जाए। इसलिए मैं अच्छे से काम करने लगी लेकिन फिर भी इतना बड़ा ऑर्डर कहीं से मिल नहीं पा रहा था। जितना मुझे टारगेट पूरा करना था। अब मैंने उसके लिए जी तोड़ मेहनत करनी शुरू कर दी लेकिन तब भी वह टारगेट पूरा नहीं हुआ। फिर मुझे उन डीलर का ध्यान आया, जिनके पास में काफी समय पहले गई थी। मैं सलमान के पास दोबारा से चली गई और उन्हें अपने प्रोडक्ट के बारे में बताने लगी। मुझे इस बार लग रहा था कि वह हमारा सामान ले लेंगे। या मुझे एक अच्छा काम मिल जाएगा लेकिन इस बार उन्होंने हमें थोडा ऑर्डर दे दिया। जिस वजह से मेरा टारगेट अब पूरा हो चुका था और अब वह हमारा सामान खरीदने लगे थे। हमारी कंपनी जो भी नया पुल रेट मार्केट में उतारती, सबसे पहले मैं उसे सलमान के पास ही ले जाती लेकिन अब भी मुझे उतना बड़ा आर्डर वहां से मिला नहीं था जितना मुझे उम्मीद थी।  इस बार भी मैं सलमान के ऑफिस में चली गई। जैसे ही मैं सलमान के ऑफिस में पहुंची तो वहां पर और लोग भी बैठे हुए थे। वह भी अपना सामान लेकर आए हुए थे। मुझे यह पता था कि उनका प्रोडक्ट हमसे ज्यादा अच्छा और सस्ता भी है। इसलिए मुझे थोड़ा टेंशन हो रही थी। अब वह अपना प्रोडक्ट का डेमो देने लगे। जब मेरी बारी आई तो मैं भी अपने प्रोडक्ट का डेमो सलमान को देने लगी लेकिन मुझे उसके चेहरे से ऐसा नहीं लग रहा था कि वह हमारा सामान खरीदने वाला है और मुझे इस बात की बहुत ज्यादा चिंता हो रही थी।

मैं तुरंत ही सलमान को अपने बड़े-बड़े स्तन दिखाने लगी। मैं जैसे ही झुकी तो मैंने अपने शर्ट का बटन खोल लिया था जिससे कि मेरे स्तन साफ दिखाई दे रहे थे। जिसे देखकर सलमान का मन भी खराब हो गया और वह मेरे पास में आकर ही बैठ गया। उसने भी तुरंत मेरे स्तनों को अपने हाथ से दबाना शुरु कर दिया और मेरी शर्ट की सारे बटन को खोल दिया। उसने जैसे ही मेरे चूचो को देखा तो वह उसकी तरफ आकर्षित हो गया और मेरे स्तनों को तुरंत ही अपने मुंह में लेकर चूसने लगा। वह बहुत ही देर तक मेरे स्तनों को ऐसे ही चूसे जा रहा था। वह मेरे स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था। मुझे ऐसा लग रहा था कि मुझे यह डील मिल जाएगी क्योंकि मैंने उसके सामने अपने आप को समर्पित कर दिया था। उसने भी मुझे बड़ी तीव्र गति से अपनी गोद में बैठा लिया। जैसे ही उसने अपनी गोद में बैठाया तो उसका मोटा सा लंड मुझसे टकरा रहा था। वह मुझसे टकराता तो मेरा भी जी मचलने लगाता और मैं ऐसे ही उसके होठों को अपने होठों में लेकर किस करती जा रही थी। मैंने बहुत देर तक उसके होठों को अपने होठों में लेकर चूसने जारी रखा। जिससे कि उसका मन और ज्यादा उत्तेजित हो गया और उसने तुरंत ही मेरी पैंट को खोलते हुए मेरे चूतड़ों को चाटना शुरू किया। कुछ देर उसने मेरी चूत को भी अपनी जीभ से चाटा।

अब उसने अपने मोटे से लंड को मेरे मुंह के अंदर डाल दिया। मैंने उसे इतने अच्छे से चूसा कि उसको भी  अच्छा लगने लगा होगा। उसने भी मेरे दोनों पैरों को चौड़ा करते हुए मुझे वही अपने सोफे पर लेटा दिया और अपने मोटे लंड को मेरी योनि में डालते हुए उसे धक्के मारने लगा। वह इतनी तेज गति से मेरी चूत मार रहा था कि मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। जब वो मुझे ऐसे ही चोदे जा रहा था और ऐसे ही चोदता तो मेरा भी मन मचलने लगा और मैं भी बड़ी तेज आवाज अपने मुंह से निकालने लगी। थोड़ी देर बाद उसका वीर्य पतन हो गया और उसका वीर्य मेरी योनि के अंदर ही गिर गया। लेकिन उसका मन अभी भी नहीं भरा था और उसने मुझे घोड़ी बनाते हुए मेरी गांड के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जैसे ही उसने मेरी गांड में अपने लंड को डाला तो मेरी बहुत तेज चीख निकल गई और मैं बड़ी तेजी से चिल्लाने लगी। उसने मुझे छोड़ नहीं जिससे कि वह बड़ी तेजी से ऐसे ही धक्के मारे जा रहा था और मेरी गांड से खून भी निकल गया था। लेकिन उसने मुझे बिल्कुल भी नहीं छोड़ा और ऐसे ही धक्के मारते रहा। बहुत देर तक जब उसने मुझे चोदना जारी रखा। मैंने उसे कहा कि मुझे लगता है आज तुम मेरी गांड फाड़ कर ही रहोगे। उसने बड़ी तेजी से मुझे ऐसे ही चोदना जारी रखा। जिससे कि मेरा पूरा शरीर हिलता जाता और मेरे भी चूतड़ों में बहुत तेज दर्द हो रहा था मुझसे बर्दाश्त भी नहीं हो रहा था लेकिन वह ऐसे ही मेरी गांड मारे जा रहा था। थोड़ी देर बाद उसका वीर्य गिर गया और उसने गांड के अंदर ही माल को गिरा दिया। अब मुझे वह आर्डर मिल चुका था और मेरे कंपनी वाले भी बहुत खुश हु।ए उन्होंने मुझे उसके बदले इंसेंटिव भी दिया। जिससे कि मैंने अपने अब्बू को दे दिया। मुझे बहुत ही अच्छा लगा जब मुझे सलमान ने आर्डर दिया। अब सलमान जब भी मुझे ऑर्डर देता है तो सबसे पहले वह मेरी गांड मारता है उसके बाद ही मुझे उससे आर्डर मिलता है।