ऐसी रात दोबारा नहीं आई

Antarvasna, hindi sex story: मैं अपने दोस्त से मिलने के लिए उसके घर पर गया था मेरे दोस्त का नाम रजत है। जब मैं रजत के घर पर पहुंचा तो वह उस वक्त घर पर नहीं था मैंने उसे फोन किया तो वह मुझे कहने लगा कि रोहन मैं थोड़ी देर बाद घर पर आ रहा हूं मैं किसी जरूरी काम से अपने मामा जी के घर पर आ गया था। मैंने उसे कहा ठीक है मैं तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं। रजत के घर पर मैं बैठा हुआ था उसकी मम्मी ने मुझे कहा कि रोहन बेटा क्या तुम्हारे लिए चाय बना दूं तो मैंने कहा नहीं आंटी रहने दीजिए लेकिन उन्होंने मेरे लिए चाय बना दी। मैं चाय पी ही रहा था कि थोड़ी देर बाद रजत भी आ गया जब रजत आया तो वह मुझे कहने लगा कि रोहन आज मैं किसी जरूरी काम से मामा जी के घर पर चला गया था मैंने उसे कहा कोई बात नहीं। रजत और मैं उस दिन हमारे एक दोस्त की पार्टी में जाने वाले थे मैं उसी के लिए उससे कुछ बात करने के लिए गया हुआ था।

शाम के वक्त जब हम दोनों साथ में अपने दोस्त की पार्टी में गए तो वहां पर काफी भीड़ थी उसने पार्टी का अरेंजमेंट एक होटल में किया हुआ था वहीं पर मुझे एक लड़की मिली उसका नाम काजल है। जब मैं काजल से पहली बार मिला तो मुझे उससे मिलकर बहुत ही अच्छा लगा और काजल भी बहुत ज्यादा खुश हो गई थी क्योंकि वह हमारी बातों से बहुत ज्यादा प्रभावित थी और मुझसे वह बहुत खुश थी। काजल अपने कॉलेज की पढ़ाई कर रही है और मेरा कॉलेज पिछले वर्ष ही पूरा हुआ था। उस दिन पार्टी के बाद तो जैसे हम दोनों की बातें शुरू हो गई और हम दोनों एक दूसरे से अब हर रोज मिलने लगे थे हमारी बातें फोन पर होने लगी थी। जब भी मैं काजल को मिलता तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता काजल और मेरी मुलाकात अब हर रोज होने लगी थी लेकिन इसी बीच एक दिन काजल ने मुझे बताया कि वह अपनी पढ़ाई खत्म करने के बाद अपनी दीदी के पास कोलकाता जा रही है।

मैं इस बात से बहुत परेशान हो गया था मैंने सोचा कि कैसे मैं काजल के बिना रह पाऊंगा। हालांकि अभी तक मेरे और काजल के बीच कोई भी ऐसा रिश्ता नहीं था लेकिन मैं जल्द ही काजल से अपने दिल की बात कहना चाहता था और फिर एक दिन मैंने काजल को अपने दिल की बात कह दी। मैंने जब काजल को प्रपोज किया तो वह बहुत खुश हो गयी और मुझे कहने लगी कि मुझे बहुत ही खुशी है कि तुमने मुझे प्रपोज किया मैं तो सोचती थी कि तुम कभी मुझे कुछ कहोगे ही नहीं। काजल मुझसे पहले से ही प्यार करती थी लेकिन उसने भी मुझे कभी इस बारे में बताया नहीं था और ना ही हम दोनों की कभी इस बारे में कुछ बात हुई थी। अब काजल अपनी दीदी के पास रहने के लिए कोलकाता चली गई थी मैं काजल को बहुत मिस कर रहा था। काजल और मैं हर रोज फोन पर ही बातें किया करते मैं भी अब पापा के साथ ही उनका काम संभालने लगा था पापा के बिजनेस में मैं उनका हाथ बटाने लगा था इसलिए काजल के लिए मेरे पास अब समय कम होता था। काजल जब भी मुझे फोन करती तो मैं उसे कहता कि काजल मैं तुम्हें थोड़ी देर बाद फोन करता हूं हम दोनों के रिश्तो में अब दूरियां पैदा होने लगी थी। मुझे भी यह बात लगने लगी थी कि मेरे और काजल के बीच दूरियां पैदा होने लगी है इसलिए मैं काजल को सरप्राइज देना चाहता था। मैं सोच रहा था कि मैं काजल से मिलने के लिए कोलकाता चला जाऊं आखिरकार मैंने काजल से मिलने का फैसला कर ही लिया और मैं काजल को मिलने के लिए कोलकाता चला गया। जब मैं काजल को मिलने के लिए कोलकाता गया तो मैंने उसे इस बारे में कुछ भी नहीं बताया था काजल के लिए तो यह सब सरप्राइज था। जब मैं काजल से मिला तो वह खुश हो गई और कहने लगी कि रोहन मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि तुम मुझसे मिलने के लिए आओगे। काजल कोलकाता में रहकर ही किसी कंपनी में जॉब कर रही थी मैंने काजल से कहा कि काजल मैं तो देखना चाहता था कि तुम मुझसे मिलकर कितनी खुश होती हो। काजल मुझे कहने लगी कि शायद मैं तुम्हें यह सब बता नहीं सकती कि मैं तुमसे मिलकर कितनी ज्यादा खुश हूं और मैं तुमसे हर रोज मिलने के बारे में सोचती लेकिन तुम तो जानते ही हो कि अब मैं दीदी के पास रहती हूं इसलिए मेरा दिल्ली आना मुश्किल ही था।

मैं और काजल एक दूसरे के साथ अच्छा समय बिताना चाहते थे और मैं जितने दिनों तक भी कोलकाता में रहा उतने दिनों तक मैं काजल को हर रोज मिलता रहा। काजल बहुत ही ज्यादा खुश थी क्योंकि मैं और काजल एक दूसरे से प्यार जो करते थे अब हम दोनों के बीच पहले की तरह ही दोबारा से वही प्यार शुरु हो चुका था। मैं चाहता था कि काजल को मिलने के लिए मैं अक्सर आता जाता रहूं। मैं काजल को मिलने के लिए कोलकाता जाता ही रहता था लेकिन काफी समय हो गया था जब मैं काजल को मिल नहीं पाया था। अब हम लोगों के रिलेशन को भी करीब तीन साल होने वाले थे इन तीन सालों में काजल और मेरे बीच काफी बार झगड़े भी हुए लेकिन हर बार मैंने ही अपने रिश्ते को संभालने की कोशिश की। काजल भी मुझसे बहुत प्यार करती है हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत ही खुश है। मैंने और काजल ने अब शादी करने का फैसला कर लिया था जल्द ही हम दोनों शादी करने वाले थे। मैंने काजल के बारे में अपने परिवार को बता दिया था उन्हें भी काजल से कोई आपत्ति नहीं थी जब काजल ने अपनी फैमिली को इस बारे में बताया तो वह लोग भी हम दोनों की शादी के लिए तैयार हो गए पापा चाहते थे हम दोनों की शादी बड़े ही धूमधाम से हो उन्होंने हमारी शादी में कोई भी कमी नहीं रहने दी। उन्हें सारा अरेजमेंट खुद ही संभाला था अब हम दोनों की शादी हो चुकी थी हम दोनों पति-पत्नी बन चुके थे मैंने काजल को आज से पहले कभी छुआ नहीं था यह पहला ही मौका था जब मैं और काजल एक ही कमरे में थे।

हम दोनों के लिए यह बिल्कुल नया था जब हम दोनों साथ में बैठे हुए थे तो मैंने काजल के हाथों को पकड़ा और उसके हाथों को मै सहलाने लगा था उसके अंदर की गर्मी बाहर की तरफ आने लगी थी और मुझे एहसास होने लगा था कि वह तड़पने लगी है। वह चाहती थी कि मैं उसे अपनी बाहों में ले लूं मैंने जब काजल को अपनी बाहों में लिया तो वह पूरी तरीके से गर्म होने लगी थी उसके अंदर की गर्मी बढ़ने लगी थी। मैं बिल्कुल भी रहा नहीं पा रहा था मैंने उसके नरम होंठों को चूमना शुरू किया मैं जब उसके होठों को चूम रहा था तो वह तड़पने लगी थी अब वह बिस्तर पर लेट चुकी थी मैं उसके ऊपर से लेटा हुआ था मैंने काजल के कपड़ों को धीरे धीरे उतारना शुरू किया उसके बदन से मैंने सारे कपड़े उतारने शुरू कर दिए थे। अब वह मेरे सामने नग्न अवस्था में थी उसके नंगे बदन को देखकर मेरा लंड तन कर खड़ा हो गया था यह पहला ही मौका था जब मैंने उसको नंगा देखा था मै उसके गोरे बदन को अब महसूस करना चाहता था मैंने उसके स्तनों को दबाना शुरू किया तो मुझे बहुत ही अच्छा लगने लगा वह बहुत ज्यादा खुश हो गई थी। मैं जब उसके स्तनों को दबाकर उन्हें अपने मुंह में लेकर चूसता तो वह बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो जाती और मुझे कहती मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है उसके अंदर की आग बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी और मेरे अंदर की आग भी कहीं ना कहीं अब पूरी तरीके से बढ़ चुकी थी। मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो उसे काजल ने अपने मुंह में लेना शुरू कर दिया वह जिस प्रकार से मेरे मोटे लंड को अपने मुंह में लेकर चूस रही थी उससे मुझे मज़ा आ रहा था और वह बहुत ज्यादा खुश हो गई थी।

उसने मुझे कहा मुझे तुम्हारे लंड को अपने मुंह में लेने में बहुत मजा आ रहा है अब हम दोनों ही पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुके थे हम दोनों की उत्तेजना इस कदर बढ़ने लगी थी कि मैंने उसे कहा मैं तुम्हारी चूत को चाटना चाहता हूं उसने भी अपने पैरों को खोल लिया। मैंने जब देखा कि उसकी चूत से पानी बाहर निकल रहा है तो मैं उसकी चूत को बड़े अच्छे से चाटने लगा था मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था मैं जब उसकी चूत को चाट रहा था तो मेरे अंदर की आग बढ़ती ही जा रही थी मैंने अपने लंड पर अब तेल लगाया। तेल लगाने के बाद जैसे ही मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड को घुसाया तो मैं पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुका था और मेरे अंदर की आग बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी मैंने उसे कहा मैं तुम्हारी चूत मारना चाहता हूं। मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को लगाया तो उसकी चूत पर जैसे ही मेरा लंड लगा तो मुझे मजा आने लगा मैंने उसे बड़ी तेज गति से धक्के देने शुरू कर दिए थे।

मुझे बहुत ही मज़ा आने लगा था और वह बहुत ही उत्तेजित हो गई थी मेरे अंदर की आग अब चुकी थी लेकिन उसके अंदर की आग भी बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी उसकी चूत से खून की पिचकारी बाहर आने लगी और मेरे अंदर की गर्मी को वह बढ़ाने लगी थी। मेरे लंड और उसकी चूत की रगडन से जो गर्मी पैदा हो रही थी वह एक अलग ही माहौल बना रही थी जिससे कि हम दोनों एक दूसरे के लिए बहुत ज्यादा तड़पने लगे थे मैंने उसे कहा मेरा लंड अब तुम्हारी चूत की गर्मी ज्यादा झेल नहीं पायेगा मैंने अपने वीर्य को उसकी चूत में गिराने का फैसला कर लिया था। जैसे ही मैंने अपने वीर्य की पिचकारी उसकी चूत के अंदर मारी तो वह खुश हो गई हम दोनों एक दूसरे के ऊपर ऐसे ही लेटे रहे उसके बाद भी मैंने काजल के साथ रात भर सेक्स का मजा लिया और अपनी रात को सुहाना बना दिया था।