23 साल की सीधी साधी हाऊस वाइफ-4

desi sex stories, incest sex story

हेल्लो दोस्तों, मैं सूरज हाजिर हूँ कहानी का अगला और आखिरी भाग के साथ . मैं और निशा चुदाई कर चुके थे और अब बारी थी अगले राउंड की . हमारे पास पूरी रात थिसी इसीलिए मैंने जल्दबाजी करना ठीक नही समझा . मुझे प्यास लगी तो मैंने उससे पानी लाने के लिए कहा . वो जब पानी लेने जा रही थी नंगे बदन तो मेरी नजर उसकी सेक्सी गांड पर पड़ी . उसकी मटकती हुई चल और सेक्सी गांड.. मेरा लंड बिना देर किये फिर से खड़ा हो गया . पानी पीने के बाद मैंने उससे कहा – भाभी, एक ख्वाहिश अहि, प्लीज पूरी कर दो . वो बोली – आज जब मैं तुम्हारी हूँ, तू जो बोलोगे मैं करूंगी . मैंने कहा – थोड़ी मुश्किल है . वो बोली – क्या ? मैंने कहा  – बुरा मत मन्ना लेकिन आपकी सेक्सी गांड देखकर मुझसे रहा नही जा रहा . वो समझ गयी की अगर मेरा लंड उसकी गांड में गया तो उसकी गांड फट जाएगी . मैंने कहा – भाभी, प्लीज न . आप को भी पता है की आज के बाद चुदाई का कब मौका मिले कुछ पता नही . मेरे इतने इमोशनल ब्लैकमेल के बाद वो मान गयी .

अब मैंने भाभी को लिटाया और अलमारी से क्रीम ले आया . मैंने भाभी से उल्टा लेटने के लिए कहा और भाभी की पीठ पर किस करने लगा . भाभी को मजा आ रहा था . भाभी मस्ती में उ मम म म म मम म मम म म मम मम ओ ह हह ह हह ह ह हह ह ह हह ह  अहः हह ह ह ह हह ह हह उ म मम म मम म म मम म अहह ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह कर रही थीं . मैंने अब भाभी के चूतडों को सहलाना शुरू कर दिया . भाभी को लगा गया की अब उसकी गांड की सहमत आने वाली है . भाभी बोलीं – आराम से . मैंने कहा – ठीक है भाभी .

अब मैंने भाभी की कमर के नीचे 2 तकिये लगाये और भाभी की गांड में एक ऊँगली डाला दी . भाभी के मुंह से उ उई इ ई इ ई इ इ ई इ इ इ ई इ ई ई ओ ह ह हह ह ह हह ह अहः हह ह ह ह हह ह ह हह ह निकालो इसे.. आह्ह ह हह ह ह उ ई इ ई  निकाल पीडीए. मैंने बिना निकाले ऊँगली को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया . भाभी अब जो जोर से आह हह ह ह हह ह हह ह उ ऊ उ इ इ ई इ इ ई इ इउ ई इ इ उम म म मम म मम म म अहः ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह हह ह हह उ हह ह हह ह म म म मम म म अहह ह ह ह हह ह हह ह ह हह ह ह ओ ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह ह ह हह ह हह उ ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह ह हह ह ह करने लगी . मैंने अब बिना देर किये दूसरी ऊँगली भी डाल दी . भाभी की सिसकियाँ और तेज हो गयीं और वो आह हह ह ह हह ह हह ह हह ह उ मम म म मम म मम म मम मम्म मम्म मम मम मम ओ हह ह हह ह्ह्ह ह्ह्ह ह्ह्ह ह्ह्ह ह हह ह्ह्ह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह हह  धीरे से.. आह्ह हह ह ह ह हह ह ह हह ह  करने लगीं .

थोड़ी देर बाद मैंने सोचा की भाभी की गांड अब तैयार है . मैंने भाभी की गांड पर अपना लंड टिकया और बोला – भाभी, बहुत जोर से मत चिल्लाना . मैंने उनसे गांड ढीली छोड़ने को कहा . वो मान गयीं . मैंने लंड टिकाया और एक धक्का दिया . भाभी की गांड टाइट होने की वजह से लंड आधा भी नही घुसा . मैंने और जोर से धक्का दिया तो भाभी की गांड में मेरे लंड का टोपा घुस गया  और साथ ही भाभी की गांड से खून निकाल आया . वो जोर से रो पड़ीं और उ ई इ इ ई ईई ई इ इ ईई ई इ इ ईई इ ई इ इ मत गई.. फट गयी मेरी.. अहह हह ह ह हह ह हह ह ह ह ह करके चिल्लाने लगीं . मैंने लंड निकाल लिया और खून साफ़ किया . थोड़ी देर बाद फिर से मैंने लंड टिकाया और धक्का दे दिया . इस बार मैंने जोर का धक्का दिया और पूरा लंड अन्दर कर दिया . भाभी जोर जोर से उ उई ई इ इ ई इ ई इ इ इ इ ई इ इ इ इ इ  अहह ह ह हह हह ह ह हह ह ओह ह हह ह हह हह  अहह ह हह ह हह ह हह ह ह हह ह्ह्ह्हः ह हह ह ह ह करने लगी . मैंने अब लंड को भाभी की गांड में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया . भाभी की गांड टाइट होने की वजह से मैं बस 10 मिनट में झड गया और भाभी की गांड में ही सारा माल छोड़ दिया .

उस दिन के बाद जब भी मैं राजू के घर जाता हूँ, निशा भाभी की बजा के आता हूँ .